भारत का सबसे प्रसिद्ध किला कौन सा है।

भारत प्राचीन किलों और स्मारकों का एक देश है, जो अपनी आधुनिक प्रगति और प्राचीन संस्कृति का वर्णन करता है। भारत में कई प्रसिद्ध किले हैं, जिनमें से सर्वाधिक किले राजस्थान में स्थित हैं। इनमें से एक किला जोधपुर मे स्थित महान मेहरानगढ़ किला राजस्थान का सबसे प्रसिदध् किला है। यह किला इतना विशाल और ऊंचा है, कि उसे देखते हुए ब्रिटिश लेखक रूडयार्ड किपलिंग कहते है कि “इस महल का निर्माण परियों और फरिश्तों के द्वारा किया गया होगा”।

bharat ka sabse famous kila koun sa hai

लगभग 500 वर्ष पुराना मेहरानगढ़ किला भारत के सबसे बड़े किलों में से एक है।

मेहरानगढ़ का यह किला किसने बनवाया था ?

इस किले की नींव राव जोधा ने डाली थी, वह जोधपुर के 15 राठौर शासक थे। पूर्व राठौर राजाओं की राजधानी “मंडोर का किला” था। परन्तु जब राव जोधा ने शासन की बागडोर सम्भाली तब उन्होंने हजारों बर्ष पुराने मंडोर का किले को असुरक्षित महसूस किया और उन्होंने 12 मई 1459 को एक नए विशाल किले का नींव डाल दी, जिसे महाराज जसवंत सिंह के द्वारा पूर्ण किया गया । यह किला मैदानी भूमि से लगभग 124 मीटर ऊंची पथरीली चट्टान, जिसका प्राचीन नाम भोर चिड़ियाटूंक था, पर बना हुआ है।

मेहरानगढ़ किले की खासियत

इस किले के अंदर अनेक अद्भुत महल जैसे कि मोती महल, फूल महल, शीश महल, दौलत खाना तथा सिलेह खाना आदि बनाए हुए हैं। महल से कुछ ही दूरी पर मां चामुंडा देवी का मंदिर भी है। राव जोधा के द्वारा 1960 को इस मंदिर का निर्माण कराया गया राव जोधा चामुंडा की अराधना कुलदेवी के रूप में करते थे। आज भी लोगों के द्वारा यहां पूजा अर्चना की जाती है।

राजस्थान का यह महल लंबी ऊँची दीवार से घिरा है तथा इसके सात मुख्य द्वार तथा एक गुप्त द्वार भी है। कहा जाता है कि जब कोई राठौर राजा युद्ध मे विजय प्राप्त करता था तो वह अपनी जीत को यादगार रखने हेतु द्वार का निर्माण करवाता था। किले के जयपोल द्वार और फतेहपोल द्वारो का निर्माण राठौर शासकों ने विजय स्मृति के लिए ही कराया था।

इस किले ने कई बार शत्रुओं के आक्रमण को झेला है, किले की बाहरी द्वारो पर युद्ध के दौरान किए हमलों के निशान आज भी मौजूद है।

मेहरानगढ़ का म्यूजियम राजस्थान का प्रसिद्ध म्यूजियम है। इस म्युजियम में शाही पालकिँया , राजवेशों का साज सामान ,युद्ध में प्रयुक्त किए गए अस्त्र-शस्त्र तलवारों, ढ़ालो, कटारो, हाथियों के हौदे, संगीत वाघ यंत्र आदि का संग्रह है। महल की दीवारों पर जटिल नक्काशी और विभिन्न शैलियों के चित्रों का प्रदर्शन किया गया है, जो कि दर्शनीय है।
इसीलिए विदेशी पर्यटको के लिए मेहरानगढ़ किला पर्यटन स्थल बना हुआ है, यह किला प्राचीन भारतीय समृद्धिशाली अतीत की गोरव गाथा का बखान करता है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.