बैक्टीरिया की खोज किसने और कब की थी।

बैक्टीरिया खोज किसने की थी इसके खोजकर्ता का नाम क्या है यहां पर हम इसके बारे में complete जानकारी प्राप्त करेंगे क्योंकि ना जाने हमारी एक उंगली पर ही कितने सारे बैक्टीरिया होते हैं। ऐसे में आखिर ! बैक्टीरिया की खोज किसने और कब की थी इसके बारे में हमें जानकारी होना चाहिए तो चलिए हम जानते हैं कि बैक्टीरिया की खोज किसने की थी।

बैक्टीरिया की खोज  एंटोनी वानलुइवीनहोएक ने की थी, इसीलिए एंटोनी वानलुइवीनहोएक को Microbiology का पिता भी माना जाता है। अब जब आपको इस बात का जवाब  मिल गया  कि , बैक्टीरिया की खोज किसने की थी? तो आगे बढ़ते हैं और इस विषय में कुछ और जानते हैं।

bacteria ki khoj kisne ki

बैक्टीरिया के खोजकर्ता एंटोनी वानलुइवीनहोएक

एंटोनी वानलुइवीनहोएक ने एक कोशिका वाले “ प्रोटोजोआ” नामक जीवाणु या बैक्टीरिया की खोज की थी, और उन्होंने इन जंतुओं को अनिमुकुलस नाम दिया था । उन्होंने माइक्रोस्कोप को पहले से कहीं बेहतर  बनाकर माइक्रोबायोलॉजी के क्षेत्र में अमूल्य योगदान दिया। एंटोनी वानलुइवीनहोएक को दुनिया का सबसे पहला माइक्रोबायोलॉजिस्ट माना जाता है। एंटोनी वानलुइवीनहोएक का जन्म 14 अक्टूबर 1632 को डेल्फ्ट नाम के नीदरलैंड के एक शहर में हुआ था। आप को उनके बारे में यह बात जानकर अत्यंत आश्चर्य होगा  कि वह बेहद कम पढ़े लिखे इंसान थे फिर भी अपनी क्यूरोसिटी और मेहनत के दम पर इतना कुछ हासिल कर पाए।

बैक्टीरिया या जीवाणु

बैक्टीरिया जीवन का सबसे सरल रूप है, उनकी केवल एक कोशिका होती है। इनके कोई अंग नहीं होते । बैक्टीरिया लगभग सभी आकारों में पाया जाता है। बैक्टीरिया कई जानवरों के अंदर भी पाए जाते हैं एवं उनकी मदद भी करते हैं ।

उदाहरण के लिए गाय के पेट में ऐसा बैक्टीरिया पाया जाता है जो उसे घास को पचाने में मदद करता है। इंसानों के अंदर इसी बैक्टीरिया की कमी के कारण  हम  घास नहीं खा सकते। अगर इंसानों के शरीर के अंदर बैक्टीरिया समा जाएं तो वे इंसानों के पोषक तत्व जैसे कि विटामिन, प्रोटीन आदि  का उपभोग करने लगते हैं और इस वजह से हम बीमार हो सकते हैं,  इस तरह के बैक्टीरिया से बचने के लिए जिन दवाइयों का उपयोग किया जाता है उन्हें एंटीबायोटिक Antibiotic कहते हैं ।

बैक्टीरिया से कैसे बचे ? इससे बचने के सरल उपाय क्या है –

बैक्टीरिया से बचने के 2 सबसे प्रमुख उपाय हैं कि ज्यादा से ज्यादा बार दिन में हाथ धोएं, और भोजन में भी बैक्टीरिया हो सकता है इसीलिए इसे अच्छे से पकाएं। कई बैक्टीरिया ऐसे होते हैं जो इंसान के  सुरक्षा तंत्र या इम्यून सिस्टम से बच कर निकल जाते हैं इसीलिए डॉक्टर सलाह देते हैं कि जिंक एवं विटामिन सी का सेवन किया जाए ताकि आपका इम्यून सिस्टम इन बैक्टीरिया से आप का संरक्षण कर सके।अब तो आपको पता होगा कि ,बैक्टीरिया की खोज किसने की थी?

Arvind Patel

Follow us on other platforms too. Stay Connected!

Leave a Comment