भारत के प्रथम मुख्यमंत्री कौन था।

भारत के राज्यों में चुने जाने वाले मुख्य मंत्रियों को स्वतन्त्रता से पहले (1947 से पहले) प्रीमियर या प्राइम मिनिस्टर के नाम से जाना जाता था। 1947 में भारत की आजादी के बाद से राज्यों की सरकारों के प्रीमियर या मुखिया को मुख्य मंत्री के नाम से जाना जाने लगा। चूंकि मुख्य मंत्री राज्यों के होते हैं इसलिए भारत के प्रथम मुख्य मंत्री के रूप में किसी का भी नाम नहीं लिया जा सकता है। इस प्रकार 15 अगस्त 1947 के दिन जिन राज्यों में लोगों द्वारा चुनी हुई सरकारें थीं, उन राज्यों के मुख्य मंत्रियों को देश के राज्यों के प्रथम मुख्य मंत्री होने का गौरव दिया जा सकता है। लेकिन यदि हम संवैधानिकता की बात करें तो 26 जनवरी 1950 को संविधान लागू होने के बाद से जिन राज्यों में मुख्य मंत्री थे, उन्हे ही भारत के राज्यों के प्रथम मुख्य मंत्री होने का गौरव दिया जाना चाहिए। लेकिन भारतीय संवैधानिक विकास की समझ रखने वाले अधिकांश इतिहासकर 1947 में देश की आजादी के समय मौजूद राज्यों के मुख्य मंत्रियों को ही प्रथम मुख्य मंत्री मानते हैं। लेकिन वो कौन राज्य थे जिनमें उस वक़्त मुख्य मंत्री मौजूद थे और भारत का प्रथम मुख्य मंत्री कौन था? इस लेख में इन सभी सवालों के उत्तर दिये गए हैं।

bharat ke first chief minister koun the

भारत 29 राज्यों का एक संघ है। भारत में पहला मुख्यमंत्री कौन था, यह जानने के लिए, हमें भारतीय राज्यों के गठन के इतिहास को देखना होगा। कानूनी रूप से भारतीय में अलग-अलग राज्य, 26 जनवरी 1950 को भारत के संविधान के लागू होने के साथ अस्तित्व में आए थे। उस समय, भारतीय संविधान में 29 राज्य शामिल थे, जिन्हें भारतीय संघ के राज्यों की चार श्रेणियों में वर्गीकृत किया गया था-Part-A, Part-B, Part-C और Part-D।

Part-A राज्यों में ब्रिटिश भारत के 9 पूर्ववर्ती गवर्नर प्रांत शामिल थे जैसे असम, बिहार, ओडिशा, संयुक्त प्रांत और पश्चिम बंगाल आदि। Part-B राज्यों में 9 पूर्ववर्ती रियासतें थीं जिनमें विधायिकाएं थीं। मुख्य आयुक्त के ब्रिटिश भारत के प्रांतों को Part C राज्यों के रूप में नाम दिया गया था। भाग D राज्य में केवल अंडमान और निकोबार द्वीप समूह थे। राज्यों के पुनर्गठन अधिनियम, 1956 के कार्यान्वयन के साथ, भाग-ए और भाग-बी राज्यों के बीच का अंतर दूर हो गया था। पार्ट-सी राज्यों की श्रेणी को खत्म कर दिया गया और Part-D के एकमात्र सदस्य को केंद्र शासित प्रदेश का दर्जा दिया गया था। इस अधिनियम ने 1 नवंबर, 1956 को भारत में 14 राज्यों और 6 केंद्र शासित प्रदेशों का निर्माण किया।

अब प्रश्न पर वापस आते हैं, भारत की स्वतंत्रता के समय केवल निम्नलिखित राज्यों (या प्रांत) में मुख्यमंत्री थे। 15 अगस्त 1947 को, निम्नलिखित प्रांतों में एक जिम्मेदार और निर्वाचित सरकार के साथ मुख्यमंत्री थे:

  • असम – श्रीजुत गोपीनाथ बारदोलोई (15 अगस्त 1947 – 6 अगस्त 1950)
  • बिहार – श्री कृष्ण सिन्हा (15 अगस्त 1947 – 31 जनवरी 1961)
  • मध्य प्रांत और बरार (बाद में मध्य प्रदेश) – रवि शंकर शुक्ला (15 अगस्त 1947 – 31 दिसंबर 1956)
  • बॉम्बे – बालासाहेब गंगाधर खेर (15 अगस्त 1947 – 21 अप्रैल 1952)
  • पंजाब -गोपी चंद भार्गव (प्रथम कार्यकाल 15 अगस्त 1947 – 13 अप्रैल 1949)
  • मद्रास (बाद में तमिलनाडु) – ओ॰ पी॰ रामास्वामी रेड्डियार (15 अगस्त 1947 – 6 अगस्त 1961)
  • संयुक्त प्रांत (बाद में उत्तर प्रदेश) – पं॰ गोविंद बल्लभ पंत (15 अगस्त 1947-28 दिसंबर 1954)
  • ओडिशा – हरेकृष्ण महताब (15 अगस्त 1947 – 12 मई 1950)
  • पश्चिम बंगाल – प्रफुल्ल घोष (प्रथम कार्यकाल -15 अगस्त 1947-14 जनवरी 1948)

इसलिए केवल उपर्युक्त व्यक्तियों को ही विभिन्न राज्यों का प्रतिनिधित्व करने वाले भारत के पहले मुख्यमंत्रियों के रूप में नामित किया जा सकता है।

भारत के सभी 29 राज्यों के प्रथम मुख्यमंत्री की लिस्ट

स्वतंत्रता के समय, केवल 9 प्रांत थे, जिनमें चुनाव के आधार पर चुनी गई जिम्मेदार सरकारें शामिल थीं। राज्य पुनर्गठन अधिनियम, 1956 ने भाषाई आधार पर कई अन्य राज्यों का निर्माण किया। गोवा जैसे कुछ राज्यों को विदेशी शासन से बहुत बाद में आज़ादी मिली थी। इस सूची में सभी 29 भारतीय राज्यों के पहले मुख्यमंत्रियों के नाम और कार्यकाल शामिल हैं:

भारतीय राज्यों के पहले मुख्यमंत्री

क्र.सं राज्य प्रथम मुख्य मंत्री कार्यकाल
1. आंध्रप्रदेश Tanguturi Prakasam Period-1 Oct. 1953 – 5 Nov.1954
2. अरुणाचल प्रदेश Prem Khandu  Thungon Period-13 Aug. 1975- 18 Sep. 1979
3. असम Srijut Gopinath Bardoloi Period-15 Aug. 1947-  6 Aug 1950
4. बिहार Sri Krishna Sinha Period-15 Aug. 1947- 31 Jan. 1961
5. छत्तीसगढ़ Ajit Jogi Period-1 Nov 2000 –  7 Dec. 2003
6. गोवा Dayanand B. Bandodkar Period-8 June 1962 – 2 Dec. 1966
7. गुजरात Jivraj Mehta Period-1 May 1960-  18 Sept. 1963
8. हरयाणा  Bhagwat  Dayal Sharma Period-1 Nov. 1966- 24 March 1967
9. हिमाचल प्रदेश Yashwant Singh Parmar Period-8 March 1952-1956
10. जम्मू और कश्मीर Gulam Muhammad Sadiq Period-30 March 1965 -12Dec.1971
11. झारखंड Babulal   Marandi Period-15 Nov. 2000- 18 Mar. 2003
12. कर्नाटक K.Chengalaraya   Reddy Period-25 Oct. 1947- 30 Marc1952
13. केरल Patton Thanu Pillai Period-24 Mar. 1948 – 23 Oct.1948
14. मध्य प्रदेश Ravi Shankar Shukla Period-15 Aug. 1947- 31 Dec.1956
15. महाराष्ट्र Bal Gangadhar kher Period-15  Aug 1947 – 31Dec.1956
16. मणिपुर M. Koireng Singh Period-1 July 1963 – 12 Jan. 1967
17. मेघालय Williamson A. Sangma  Period-2 Apr. 1970 – 8 March 1978
18. मिज़ोरम  L . Chal. Chhunga Period- 3 May 1972- 10 May 1977
19. नागालैंड  Shilu Ao Period-1 Dec. 1963 – 14 Aug. 1966
20. पंजाब Gopalchand Bhargava Period-15 Aug  1947- 13 Apr. 1949
22. सिक्किम Kazi Lhendup Dorjee Period-16 May 1975- 17 Aug. 1979
23. तमिलनाडु O.P.Ramaswamy Reddiyar Period-15 Aug. 1947- 6 April. 1949
24. तेलंगाना Kalvakuntla Chandrashekar Rao Period- 2 June 2014-Present
25. त्रिपुरा Sachindra Lal Singh Period-1 July 1963 – 1 Nov. 1971
26. उत्तर-प्रदेश Pt. Govind Ballabh Pant Period-15 Aug. 1947- 6 April. 1949
27. उत्तराखंड Nityanand Swami Period-9 Nov. 2000- 30 Oct. 2001
28. पश्चिम बंगाल Prafulla Chnadra Gosh Period-5 Aug. 1947- 14 Jan. 1948
29 राजस्थान Bhim Singh Ji Period-25 March 1948 – 18 April. 1948

 

Leave a Reply