भारत का सबसे बड़ा चीनी उत्पादक राज्य कौन सा है।

भारत एक कृषि प्रधान देश है यह हम सभी जानते हैं। भारत की कुल आबादी का एक बड़ा हिस्सा गांव में बसता है जो कि पूरी तरह कृषि पर ही आधारित है। आंकड़ों में देखे तो लगभग 60 प्रतिशत भूमि का उपयोग कृषि के लिए किया जाता है। भारत में अलग अलग मौसम हैं और इसी आधार पर यहां फसलों की बोआई भी होती है। अलग अलगमौसम में अलग अलग चीज़ उगाए जाते हैं। देखें तो भारत में लगभग सभी तरह के फल, सब्जी और अनाज उगाए जाते हैं।

bhart me sabse jayda utpadn kis rajya me hai

कृषि प्रधान देश भारत में प्रमुख रूप से धान, गेंहू, मक्का, आलू इत्यादि की खेती की जाती है। इसके अलावा भारत में गन्ने की भी खेती की जाती है। इस कारण भारत विश्व में चीनी उत्पादन में प्रमुख स्थान रखता है। भारत में बड़े स्तर पर गन्ने के उत्पादन किया जाता है लेकिन क्या आपको मालूम है कि भारत का सबसे बड़ा चीनी उत्पादक राज्य कौन सा है? इस प्रश्न का उत्तर इसी लेख में बताएंगे। हम बताएंगे कि भारत का सबसे बड़ा चीनी उत्पादक राज्य कौन सा है तथा कुछ अन्य प्रमुख उत्पादक राज्यों के बारे में भी बताएंगे।

भारत का सबसे बड़ा चीनी उत्पादक राज्य

विश्व में होने वाले चीनी उत्पादन का 80 प्रतिशत भाग गन्ने ( Sugarcane ) से किया जाता है। इसी तरह भारत में भी चीनी का उत्पादन प्रमुख रूप से गन्ने से ही होता है। चीनी बनाने के लिए आवश्यक सामग्री गन्ना भारत के अलग अलग राज्यों में उगाई जाती है। गन्ने की खेती तो कई राज्यों में की जाती है लेकिन सबसे अधिक उत्पादन उत्तर प्रदेश में की जाती है। हालांकि पिछले कुछ समय में महाराष्ट्र में भी गन्ने के उत्पादन में बढ़ोतरी हुई है लेकिन सूखे तथापानीकीकमीके कारण गन्नाउत्पादन में यह उत्तर प्रदेश को नही पछाड़ सका है। हालांकि 2011 – 12 में महाराष्ट्र चीनी उत्पादन में उत्तरप्रदेश से ऊपर था।

  • उत्तर प्रदेश – भारत का सबसे बड़ा चीनी उत्पादक राज्य

क्षेत्रफल के लिहाज से भारत का चौथा सबसे बड़ा राज्य उत्तर प्रदेश है जो कि गन्ने उपजाने के मामले में सभी राज्यों से ऊपर है। उत्तर प्रदेश में किसी भी राज्य के मुकाबले सबसे अधिक क्षेत्र में गन्ने की खेती होती है। यहां लगभग 21 लाख हेक्टेयर खेत में गन्ने की खेती होती है। चूंकि गन्ने की खेती के लिए काफी पानी की आवश्यकता होती है लेकिन भारत के अधिकतर राज्य आये साल सूखे की चपेट में आते रहते हैं। इस कारण इसके उत्पादन पर काफी फर्क पड़ता है।

इस सब के बावजूद उत्तर प्रदेश में गन्ने की अच्छी फसल होती है इसका प्रमुख कारण यह है कि यहां के बड़े क्षेत्र को नदियों के द्वारा पानी मिल जाता है। यहां मुख्य रूप से गंगा नदी का पानी खेती के लिए उपयोग किया जाता है। इस कारण पानी की कमी भी नही होती है और फसल भी अच्छी होती है। उत्तर प्रदेश में मुख्य रूप से  बरेली, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर इत्यादि जिलों में प्रमुख रूप से गन्ने की खेती होती है। उत्तर प्रदेश में सालाना लगभग 133.33 मिलियन टन गन्ने की उपज होती है। इस कारण यहां से बड़ी मात्रा में चीनी का उत्पादन होता है।

इसके अलावा अन्य राज्यों की बात करें, जहां गन्ने की खेती की जाती है और चीनी का उत्पादन किया जाता है उसमें महाराष्ट्र, तमिलनाडु, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, बिहार, गुजरात, हरियाणा, पंजाब और उत्तराखंड शामिल है। इसके अलावा भी कुछ अन्य राज्यों में थोड़ी बहुत गन्ने की खेती की जाती है। अतः इन राज्यों में भी चीनी का उत्पादन किया जाता है।

इस लेख के पढ़ने के बाद आपको पता चल गया होगा कि भारत का सबसे बड़ा चीनी उत्पादक राज्य कौन सा है। अगर आपके पास इस लेख से जुड़ा कोई सवाल हैं या इससे जुड़ा कोई सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट बॉक्स में ज़रूर बताएं। इसी तरह के लेख प्राप्त करते रहने के लिए इस Website के साथ जुड़े रहें।

Leave a Reply