भारत का सबसे बड़ा क्रिमिनल कौन है । Most wanted criminal in India

यह बहुत ही interesting प्रश्न है कि भारत का सबसे बड़ा क्रिमिनल कौन है वैसे तो भारत में अमेरिका की तरह Most Wanted की सूची नहीं तैयार की जाती जिसमें अपराधियों की रैंकिंग होती है परंतु कानून एवं व्यवस्था के जानकारों  के मध्य इस बात पर सहमति है कि दाऊद इब्राहिम भारत का सबसे बड़ा क्रिमिनल है। दाऊद इब्राहिम भारत का ही नहीं दुनिया के सबसे बड़े अपराधियों में से एक है।

यूनाइटेड नेशन्स के अनुसार दाऊद इब्राहिम 2003 से ही  Global terrorist  की लिस्ट में है। भारत एवं संयुक्त राज्य अमेरिका की सरकार ने दाऊद इब्राहिम  का पता बताने वाले को  25 मिलियन डॉलर का इनाम रखा है । यही नहीं अमेरिका के फेडरल इन्वेस्टिगेशन ब्यूरो के अनुसार भी दाऊद इब्राहिम दुनिया के 10 सबसे  बड़े अपराधियों में से एक है।

bharat ka sabse bada criminal

भारत के सबसे बड़े criminal के बारे में जानकारी

दाऊद इब्राहिम का जन्म  महाराष्ट्र के रत्नागिरी में 26 दिसंबर 1955 को हुआ। दाऊद इब्राहिम के पिता इब्राहिम कासकर  मुंबई पुलिस में हेड कांस्टेबल के पद पर थे। दाऊद इब्राहिम का बचपन मुंबई के डोंगरी में बीता। दाऊद इब्राहिम ने अपराध की दुनिया में कदम  करीम लाला  की गैंग में शामिल होकर रखा। उस वक्त पूरे मुंबई में करीम लाला की गैंग सबसे खतरनाक मानी जाती थी। दाऊद इब्राहिम इसी गैंग में धीरे-धीरे ऊपर चढ़ता गया और करीम लाला के परिवार को खत्म कर अपनी एक  गैंग बना ली। दाऊद इब्राहिम की इसी गैंग का नाम आगे चलकर डी कंपनी पड़ा ।

ऐसा माना जाता है कि दाऊद इब्राहिम का शुरुआती धंधा  फिरौती मांगने का था जो बाद में चलकर बहुत बड़े हवाला साम्राज्य में बदल गया।  बहुत कम लोगों को पता है कि बाबरी मस्जिद के विघटन के बाद हुए दंगों  के समय तो मुंबई में दंगे हुए   थे परंतु उसके कुछ महीनों बाद और भी भयंकर दंगे हुए थे और इन दंगों के बाद  मुंबई पुलिस के रिकॉर्ड के अनुसार दाऊद इब्राहिम और  पाकिस्तान की इंटर सर्विसेज एजेंसी ईएसआई  के बीच संबंध बने और उन दोनों ने मिलकर मुंबई ब्लास्ट की  योजना बनाई।  मुंबई ब्लास्ट से कुछ दिनों पूर्व ही दाऊद इब्राहिम का लगभग पूरा परिवार, टाइगर मेनन का परिवार हमेशा के लिए मुंबई छोड़कर चला गया ताकि ब्लास्ट के बाद उन्हें कोई पकड़ ना पाए। ऐसा माना जाता है कि इसके बाद दाऊद इब्राहिम यूनाइटेड अरब अमीरात से ही अपनी  डी कंपनी चलाने लगा। इसी दौरान छोटा राजन और दाऊद इब्राहिम के रिश्ते खराब हो गए और इन दोनों के बीच मुंबई में भयंकर गैंगवार चली।

ऐसा माना जाता है कि जब दाऊद इब्राहिम यूएई में ही था तब उसने भारत के उस समय के सबसे बड़े वकीलों में से एक  राम जेठमलानी को फोन करके कहा था कि वह भारत आना चाहता है, परंतु इस खबर की आधिकारिक पुष्टि कभी नहीं हुई, पर  जेठमलानी ने इस बात को स्वीकार किया है। खुफिया एजेंसियों के अनुसार दाऊद इब्राहिम इसके बाद यूएई छोड़कर पाकिस्तान के कराची में बस गया जहां पर वह आज भी रहता है ।  ऐसा माना जाता है कि दाऊद इब्राहिम कराची में रहकर अपना धंधा आज भी चला रहा है और वह यहां पर पाकिस्तान की आईएसआई के संरक्षण में रहता है।

अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए  एवं उनकी घरेलू Investigation Agency फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन के अनुसार दाऊद इब्राहिम के तालिबान एवं अलकायदा से सीधे संबंध है ।  इन एजेंसियों का मानना है कि दाऊद इब्राहिम अपने हवाला  नेटवर्क का उपयोग कर इन आतंकवादी संगठनों को पैसा पहुंचाता है, यही नहीं उनका यह भी मानना है कि दाऊद इब्राहिम अफगानिस्तान में होने वाले  ड्रग्स  के अवैध व्यापार का सबसे बड़ा तस्कर है।

यह बात ध्यान देने योग्य है कि पाकिस्तान ने आधिकारिक रूप से कभी इस बात की पुष्टि नहीं की कि दाऊद इब्राहिम पाकिस्तान में है परंतु समय समय पर पाकिस्तान के अखबारों एवं डिजिटल मीडिया से यह खबर सामने आते रहती है कि दाऊद इब्राहिम आज भी वही है और अपने परिवार के साथ वहां  आराम से रह रहा है।ऐसी ही एक घटना सालों  पूर्व हुई थी जब दाऊद इब्राहिम की बेटी  की शादी मशहूर क्रिकेट खिलाड़ी जावेद मियांदाद  के बेटे से हो रही थी। पिछले 25 सालों में जब कभी भारत पाकिस्तान के बीच किसी भी तरह की वार्ता हुई है दाऊद इब्राहिम हमेशा उसका किसी न किसी रूप में विषय रहा है।हाल ही की खबरों के अनुसार दाऊद इब्राहिम कैंसर से पीड़ित है और उसके पास कुछ ही दिन बाकी है।

Leave a Reply