भारत के पूर्व में कौन – कौन से देश हैं।

भारत के आज़ाद होने से पहले तक भारत एक बहुत बड़ा देश हुआ करता था। पाकिस्तान,  का जन्म भारत की आज़ादी के साथ ही हुआ था। बाद में भारत की कोशिशों से Bangladesh को भी पाकिस्तान से आज़ादी मिली थी। इसके और पिछले इतिहास को देखें तो अखण्ड भारत के रूप में भारत का क्षेत्रफल और भी बड़ा था तथा अफगानिस्तान तक के इलाके अखण्ड भारत का ही हिस्सा था।

bharat ke purv me koun se desh hai

देश की बंटवारे के बाद देश की भौगोलिक स्तिथि भी बदल गयी। कभी भारत का हिस्सा रहा देश भारत का पड़ोसी बन गया। और भारत की चौहद्दी भी बदल गयी। इसी आधार पर देखें तो भारत के अलग अलग दिशाओं में अलग अलग 7 देश मौजूद हैं। इस प्रश्न के हिसाब से देखें तो भारत के सबसे पूर्व में स्थित देश का नाम बांग्लादेश है। बांग्लादेश की गिनती विश्व के 10 सबसे अधिक जनसंख्या वाले देशों में होती है। इस लिस्ट में बांग्लादेश का स्थान आठवां है।

बांग्लादेश – भारत के पूर्व में स्थित देश

भारत और पाकिस्तान के बंटवारे के पहले तक बांग्लादेश पूर्वी बंगाल के नाम से जाना जाता था। बंटवारे के फलस्वरूप पूर्वी बंगाल, पूर्वी पाकिस्तान के रूप में पाकिस्तान के साथ जुड़ गया। आज़ादी की कुछ साल बाद, भारत की कोशिशों और पाकिस्तान को भारत द्वारा मुहतोड़ जवाब मिलने के फलस्वरूप बांग्लादेश का उदय हुआ। बांग्लादेश को 26 मार्च 1971 को आज़ादी मिली।

आज़ादी के बाद बांग्लादेश  को 16 दिसंबर 1971 को एक देश के रूप में विश्व स्तर पर मान्यता मिली तथा इस देश का संविधान 4 नवंबर 1972 को लागू हुआ। आबादी के लिहाज से बांग्लादेश का क्षेत्रफल काफी कम है। इसका कुल क्षेत्रफल 1,47,570 स्क्वायर किलोमीटर ही है। हालांकि लगभग ज़मीनी क्षेत्रफल के इतना ही क्षेत्रफल बांग्लादेश  के समुद्री सीमा के रूप में बंगाल की खाड़ी में पड़ता है। बांग्लादेश की राजधानी ढाका है तथा इस देश में इस्लाम धर्म प्रमुख धर्म है। यहां की कुल आबादी में लगभग 90 प्रतिशत इस्लाम धर्म के मानने वाले हैं। इसके बाद 9.5 प्रतिशत हिन्दू धर्म वाले तथा .5 प्रतिशत में अन्य धर्म शामिल है।

भारत – बांग्लादेश की सीमाएं

भारत – बांग्लादेश  सीमा को सामान्यतः International Border के नाम से जाना जाता है। ये सीमा भारत तथा बांग्लादेश को एक दूसरे से अलग करती है। यह बॉर्डर भारत के 5 राज्यों तथा बांग्लादेश के 8 डिवीजन से हो कर जाती है। इस भारत – बांग्लादेश अंतराष्ट्रीय बॉर्डर की कुल लंबाई 4156 किलोमीटर है। इतनी लंबाई के साथ यह बॉर्डर जमीन पर मौजूद दुनिया की पांचवी सबसे लंबी बॉर्डर है।

भारत के राज्यों की बात करें जहां से यह बॉर्डर जाती है तो इसमें मुख्यतः  5 राज्य का नाम आता है। बॉर्डर की कुल लंबाई का 262 किलोमीटर क्षेत्र असम, 856 किलोमीटर त्रिपुरा में, मिज़ोरम में 180 किलोमीटर तथा मेघालय में 443 किलोमीटर पड़ता है। इसके अलावा सबसे अधिक लंबाई पश्चिम बंगाल के अंतर्गत आता है। बंगाल में इस बॉर्डर की लंबाई 2217 किलोमीटर है।

इसके अलावा बचे क्षेत्र  बंगलादेश के अंतर्गत आता है। बंगलादेश में यह बॉर्डर  मैमनसिंह, खुलना, राजशाही, रंगपुर, सिलहट तथा चिटगांव डिवीजन से हो कर जाती है। इस बॉर्डर के पास भारतीय जवान और बंगलादेश के सैनिक के बीच कई बार तनाव का भी कारण बना है। सबसे बड़  विवाद 2001 में हुआ था उसके बाद से  पिछले कुछ साल में दोनो सेनाओं के बीच बड़ी झड़प की खबर नही आई है।

Leave a Reply