भारत के राष्ट्रपति कौन है वर्तमान 2019 में President of India

भारत के राष्ट्रपति कौन है (who is the president of India) यह हमे पता होना चाहिए क्योंकि भारत का राष्ट्रपति देश का मुखिया तो होता ही है साथ ही देश का प्रथम नागरिक भी कहलाता है। भारत के वर्तमान राष्ट्रपति कौन है हम इस लेख के जरिए इसके बारे में जानकारी प्राप्त करने वाले हैं। क्योंकि हमारे देश के राष्ट्रपति के बारे में प्रत्येक व्यक्ति को जानकारी होना आवश्यक है। और जो लोग किसी भी competitive exam की तैयारी कर रहे है। उन्हें राष्ट्रपति से संबंधित प्रश्न पूछा जा सकता है। इसलिए चलिये जानते भारत के राष्ट्रपति (President of India) के बारे में।

भारत का राष्ट्रपति कौन है इसके बारे में पूरी जानकारी।

1. भारत राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद
2. जन्म 1 अक्टूबर 1955
3. विवाह सविता कोविंद ( 30 मई 1974)
4. राष्ट्रपति पद संभाला 25 जुलाई 2017
5. धर्म (religion) हिन्दू, कोरी (कोली)

2019 में भारत के वर्तमान राष्ट्रपति “रामनाथ कोविंद” है कि इन्होने भारत के राष्ट्रपति की शपथ 20 जनवरी 2017 को 14वे राष्ट्रपति के रूप में ली थी।

bharat ka rashtrapati kaun hai

रामनाथ एक राजनैतिक हैं जो 20 जनवरी 2017 को भारत के 14वें राष्ट्रपति के तौर पर निर्वाचित हुए और 25 जुलाई 2017 को उच्चतम न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश जेएस खेहर ने इन्हें राष्ट्रपति पद की शपथ दिलाई। इससे पहले रामनाथ कोविंद बिहार राज्य के राज्यपाल और राज्यसभा सदस्य भी रह चुके हैं।

भारत के राष्ट्रपति कौन है – present president of India

भारत के वर्तमान राष्ट्रपति है इसके बारे में जानकारी प्राप्त करने के बाद हमें यह जान लेना important है कि देश में सर्वोच्च पद राष्ट्रपति का होता है। भारत जैसे देश मे राष्ट्रपति को देश के प्रथम नागरिक के रूप में जाना जाता है। पूरे देश के कार्यभार का जिम्मा उनके हाथों में होता है। देश का विकास, समृद्धि तथा उसके भविष्य की बागडोर संभालने वाले राष्ट्रपति का पद बेहद जिम्मेदारियो वाला होता है। इसके लिये व्यक्ति विशेष के ज्ञानी, जिम्मेदार तथा निडर होंना आवश्यक है, जिससे वह अपने निर्णय देश के हित में सोचकर शीघ्रता से ले सके। आज के इस article मे हम देश के राष्ट्रपति पद की सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करेंगे, एवं इसके बारे में जानेंगे कि यह पद किन-किन लोगों को प्राप्त हुआ।

ब्रिटिश शासन के बाद राष्ट्रपति पद की स्थति

अंग्रेजों से वर्षों की गुलामी के बाद जब भारत आज़ाद हुआ तो देश के सामने शासन व्यवस्था को सही एवं सरल रूप से व्यवस्थित करने की सबसे बड़ी चुनौती सामने थी। आज़ादी के तीन साल बाद जब संविधान का निर्माण हुआ तो उसमें उचित रूप से पदों का बंटवारा हुआ, जिनमे एक पद राष्ट्रपति का भी था। जिसको देश को बेहतर तथा नियमबद्ध तरीके से चलाने के लिए विभिन्न शक्तियां प्रदान की गई। जिनमें उसको देश की प्रथम नागरिक की संज्ञा दी गई। देश का राष्ट्रपति कार्यकारी, विधायिका तथा न्यायपालिका का प्रमुख होता है। संविधान के अनुच्छेद 56 के अनुसार उसका कार्यकाल 5 वर्ष का तय किया गया है। आज़ादी के बाद Governor General of India के पद को खत्म करके राष्ट्रपति पद की शुरुआत की गई थी। राष्ट्रपति पद का चुनाव जनता द्वारा चुने गए संसद सदस्य एवं सभी प्रदेशों के विधानसभा के सदस्यों के द्वारा होता है। राष्ट्रपति अपने पद की शपथ देश के मुख्य न्यायाधीश (सुप्रीम कोर्ट के जज) के सामने लेते है।

देश को 1950 से लेकर वर्तमान (अप्रैल 2019) तक कुल 14 राष्ट्रपति मिल चुके है। देश के भूतपूर्व राष्ट्रपति के रूप में प्रणव मुखर्जी को जाना जाता है, जबकि वर्तमान में इस पद का कार्यभार राम नाथ कोविंद संभाल रहे है। इस सम्मनित पद पर आसीन होने वालो की सूची निम्न है:-

भारत के राष्ट्रपति की सूची list of president of India

क्र . राष्ट्रपति नाम कार्यकाल
1. डॉ. राजेंद्र प्रसाद 1950 से 1962 तक
2. डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन    1962 से 1967 तक
3. डॉ. जाकिर हुसैन 1967 से 1969 तक
वी.वी. गिरि (कार्यवाहक अध्यक्ष) 1969 से 1969 तक
मोहम्मद हिदायतुल्ला (कार्यवाहक अध्यक्ष) 1969 से 1969 तक
4. वी.वी. गिरि 1969 से 1974 तक
5. फखरुद्दीन अली अहमद 1974 से 1977 तक
बसप्पा दानप्पा जट्टी (कार्यवाहक अध्यक्ष) 1977 से 1977 तक
6. नीलम संजीव रेड्डी 1977 से 1982 तक
7. ज्ञानी जेल सिंह 1982 से 1987 तक
8. आर.वेंकटरमन 1987 से 1992 तक
9. शंकर दयाल शर्मा 1992 से 1997 तक
10. के.आर. नारायणन 1997 से 2002 तक
11. एपीजे अब्दुल कलाम  1992 से 1997 तक
12. प्रतिभा पाटिल 2007 से 2012 तक
13. प्रणव मुखर्जी 2012 से 2017 तक
14. रामनाथ कोविंद 2017 से वर्तमान तक

भारत के प्रथम राष्ट्रपति कौन थे – first president of India

bharat ke pratham rashtrapati

देश के राष्ट्रपति पद पर आसीन होना बड़े गर्व का विषय होता है। इस पद की अहमियत तथा गरिमा तब और भी अधिक हो जाती जब आप विविध संस्कृति तथा अनेकता वाले भारत जैसे देश के राष्ट्रपति हो। इस देश के प्रथम राष्ट्रपति बनने का श्रेय डॉ. राजेन्द्र प्रसाद को जाता है।

देश के प्रथम राष्ट्रपति बनने वाले राजेन्द्र प्रसाद का जन्म 3 दिसंबर 1884 को जीरादेई में हुआ था। यह स्थान वर्तमान समय मे बिहार राज्य के स्थित है। इनके पिताजी का नाम महादेव सहाय था, जो संस्कृत भाषा के बड़े ज्ञानी पुरूष थे। इनकी माता का नाम कमलेश्वरी था। इनका बचपन आम भारतीय बच्चों की तरह ही व्यतीत हुआ। इनकी प्रारंभिक पढ़ाई घर पर ही हुई। उनको पढ़ाने के लिए उनके घर मौलवी आते थे। जिन्होंने उनको आधारभूत शिक्षा तथा नैतिक मूल्यों का ज्ञान दिया। उसके बाद उनको आगामी पढ़ाई के लिये उनको छपरा भेज दिया गया। परंतु मात्र 12 वर्ष की आयु में विवाह कर देने के कारण वह पटना आ गये। 2 वर्ष उन्होंने पटना में पढ़ाई की। होशयार तथा बुद्धिमान होने का कारण उनको कलकत्ता university में दाखिला मिल गया। जहाँ से उन्होंने अपना M.A. किया। अपनी पढ़ाई के अलावा वह एक अस्थायी शिक्षक के रूप में अपनी सेवा देते थे। वर्ष 1906 में वह Congress Party में एक कार्यकर्ता के रूप में जुड़ गए। बाद में महात्मा गांधी के प्रभाव से 1912 में वह आधिकारिक रूप से इस पार्टी का हिस्सा बन गये।

1950 में जब राष्ट्रपति पद संविधान में आया तब इसका निर्वाचन होना आवश्यक हो गया। 21 फरवरी 1952 को जब देश मे पहली बार आम चुनाव हुये इसके कुछ महीनों बाद ही राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव हुये। इस पद का चुनाव 2 मई 1952 को हुआ। जिसके लिए विभिन्न वर्गों तथा पार्टियों से राजेन्द्र प्रसाद समेत कुल पांच उम्मीदवार शामिल हुये। जब नतीजे सामने आए तो राजेन्द्र प्रसाद एक तरफ 83.8% बहुमतों से विजयी रहे, और देश के पहले president बनने का सेहरा इनके सिर सज़ा। इसके पाँच साल बाद यानी 1957 को वह दोबारा राष्ट्रपति पद के लिये चुनावी मैदान में उतरे। दूसरी बार भी वह विजयी रहे। इस तरह 13 मई 1962 तक लगातार 12 वर्ष वह देश के राष्ट्रपति पद पर आसीन रहे। उसके कुछ समय पश्चात ही 28 फरवरी 1963 को उनका देहांत हो गया।

भारत की प्रथम महिला राष्ट्रपति कौन थी – first woman president of india

bharat pratham mahila rashtrapati

भारत की प्रथम महिला राष्ट्रपति बनने का इंतेजार काफी लंबा रहा, जो 25 जुलाई 2007 को समाप्त हुआ। जब प्रतिभा देवसिंह पाटिल इस पद पर आसीन हुई। देश के 12वे राष्ट्रपति के रूप में चुनी गई प्रातिभा Indian National Congress पार्टी की सदस्य थी।

इनका जन्म 19 दिसंबर 1934 को महाराष्ट्र के जलगांव जिले के नंदगांव नामक स्थान पर हुआ था। इनके पिता नारायण राव पाटिल थे। इनकी प्रारंभिक शिक्षा जलगांव के R R विद्यालय में हुई। इसके बाद उन्होंने ने Political Science में अपनी master degree पुणे विश्वविद्यालय से पूर्ण की। इसके साथ ही उन्होंने मुम्बई कॉलेज से law की degree की प्राप्त कर ली थी।

इन्होंने अपने कैरियर एक वकील के रूप में start किया, परन्तु 1962 में कांग्रेस पार्टी से जुड़कर इन्होंने राजनीति में प्रवेश कर लिया। औऱ इसी वर्ष वह जलगांव विधानसभा से विधायक बन गई। 1965 में इनकी शादी देवीसिह राघसिंह शेखावत से हो गई। उसके बाद यह 1967 से 1985 तक लगातार 4 विधानसभा चुनाव जीती। उसके बाद यह 8 नवंबर 2004 को राजस्थान राज्य के गवर्नर पद पर आसीन हो गई। 2007 तक इस पद पर रहने के बाद जब इसी वर्ष राष्ट्रपति चुनाव हुए तब उन्होंने अपने प्रतिद्वंद्वी भैरोंसिंह शेखावत को 3,00,000 के भारी मतों से हराकर देश के 12वे राष्ट्रपति पद पर अपना स्थान बनाया।

भारत के वर्तमान राष्ट्रपति का वेतन कितना है – salary of president of India

चूँकि राष्ट्रपति देश का सर्वोच्च पद होता है, तो उसका वेतन कितना होगा ? इस प्रश्न को लेकर लोग कई तरह के assumption लगाते है। राष्ट्रपति का वेतन 2017 के पहले 1,50,000 प्रति माह हुआ करता था। जो अन्य कई सरकारी अधिकारियों के प्रति माह वेतन से भी कम हुआ करता था। इस तरह उनका यह वेतन उनके पद से न्याय नही करता था। 2017 के बाद जब वित्त मंत्री अरुण जेटली ने देश मे बजट जारी किया तो उन्होंने उसमें राष्ट्रपति का वेतन 5,00,000 प्रति माह तय किया। तब से वर्तमान (अप्रैल 2019) तक उनको पांच लाख प्रति माह का वेतन दिया जाता है, जो पूर्ण रूप से कर रहित ( Non- Taxable ) होता है। वेतन के अलावा भी इस पद पर आसीन व्यक्ति को चिकित्सा, निवास , वाहन, सुरक्षा तथा दूरभाष जैसी मुफ्त सेवाएं दी जाती है। उनके परिवार से लेकर उनके यहाँ अपनी सेवायें देने वाले लोगो के लिए भी सरकार राष्ट्रपति को एक अलग बजट देती है, जो वह अपने व्यक्तिगत कार्यो पर खर्च के सकते है।

वर्तमान राष्ट्रपति के जीवन के बारे में विशेष जानकारियां

रामनाथ गोविंद का जन्म उत्तर प्रदेश राज्य के कानपुर जिले के परौख गांव में हुआ था।

गोविंद की जाति कोरी है। उन्होंने वकालत B.com और LLB की डिग्री प्राप्त की है इसके बारे दिल्ली उच्च न्यायालय में वकालत प्रारंभ की। वह शुरुआत में केंद्र सरकार के वकील रहे पर 8 अगस्त 2015 को यह बिहार के राज्यपाल के रूप में चुने गए।

इनको दो साल बाद 2017 को भारत की राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवार घोषित किए गए, जिसके बाद भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने राष्ट्रपति पद के लिए इन की उम्मीदवारी की घोषणा की थी।

राष्ट्रपति चुनाव के बाद 20 जुलाई 2017 को राष्ट्रपति निर्वाचन का परिणाम घोषित हुआ जिसमें रामनाथ कोविंद ने यूपीए की प्रत्याशी मीरा कुमारी को लगभग 3 लाख से भी ज्यादा वोटों के अंतर से हरा दिया इसके बाद इन्होंने 25 जुलाई 2017 को भारत के 13वें राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के पश्चात 14वें राष्ट्रपति की तौर पर राष्ट्रपति पद की शपथ ग्रहण की।

भारत देश के राष्ट्रपति कौन है इसके बारे में जानकरी प्राप्त कर चुके है। यह राष्ट्रपति देश की सेना का भी सर्वोच्च सेनापति होता है। मतलब इन्ही के द्वारा जल, थल और वायु सेना का संभाला जाता है।

Read also :-

Leave a Reply