भारत की GDP कितनी है ? GDP of india

किसी भी देश की जीडीपी (Gross Domestic Product – GDP) का बेहतर या उच्च स्तर पर होना, उस देश की आर्थिक शक्ति को प्रकट करता है। जीडीपी तथा देश की आर्थिक स्थिति में प्रत्यक्ष (Direct) संबंध होता है, GDP का ऊँचा स्तर वैश्विक (Global) रूप से किसी भी देश को विकास के पथ पर अग्रणी बनाता है। GDP को अनेकों अर्थशास्त्रियों (Economists) ने अपने ज्ञान के अनुसार परिभाषित किया है, लेकिन एक सार्वभौमिक (Universal) परिभाषा के अनुसार ” किसी निश्चित समय काल के अंतर्गत, किसी भी देश की सीमाओं के अंदर उत्पादित हर एक तैयार वस्तु (Goods) एवं सेवाओं (Service) का मौद्रिक मूल्य जीडीपी कहलाता है।” इस Article में हम भारत की जीडीपी के बारे में जानेंगे।

bharat ki gdp kitni hai

भारत की जीडीपी कितनी है

भारत देश की जीडीपी जनवरी 2020 के समय कुल 3.202 Trillion US डॉलर थी। यह आंकड़े  “Nominal” (नाममात्र) के आधार पर है, जबकि “Purchasing Power Parity” (PPP) {क्रय-शक्ति समता} के अनुसार इस दौरान यह आंकड़े 11.321 Trillion US डॉलर थे। इस देश की  जीडीपी की विशालता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है, कि Nominal GDP के हिसाब से यह दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी जीडीपी है, जबकि PPP GDP में इसका दर्जा औऱ भी बढ़कर वैश्विक रूप से तीसरे स्थान पर पहुँच जाता है। GDP का एक मुख्य हिस्सा “प्रति व्यक्ति आय” (Per Capita Income – PCI) आय होती है। अगर इस देश की PCI की तुलना अन्य देशों से की जाये, तो 2018 में “International Monetary Fund – IMF के सूची में भारत का Nominal GDP 139वे स्थान पर था। इसके साथ PPP GDP को 118वा पायदान हासिल हुआ था।

हिंदुस्तान विकास के मार्ग पर अग्रसर (Onthemarch) हो रहा है, इसका प्रत्यक्ष प्रमाण GDP के स्तर पर देखा जा सकता हैं। वर्ष 2014 से 2018 तक की अवधि में इसकी वार्षिक औसतन GDP विकास दर 6 से 7% रही है। जो इसको दुनिया मे सबसे तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था (Economy) बनाती है। इस देश की GDP का अधिकांश हिस्सा कृषि (Agriculture) क्षेत्र से आता है, जहाँ लगभग 67% जनसंख्या कृषि कार्य मे संलग्न है।

Leave a Reply