भारत की सबसे बड़ी आईटी (IT) कंपनी कौन सी है ? india ki sabse badi IT company

Information Technology (IT) का क्षेत्र देश का एक महत्वपूर्ण पहलू है, जो न केवल देश को विकास की ओर अग्रसर कर रहा है, बल्कि भारी मात्रा में रोजगार सृजन करके, लोगों को अपने आप से जोड़ रहा है। हालांकि अभी भी भारत देश की गिनती, दुनिया के सबसे विकसित देशों में नही होती, किंतु IT का यह क्षेत्र, इस दिशा में तेज़ी से कदम बढ़ा रहा है। जिसके परिणामस्वरूप विगत कुछ वर्षों से देश मे IT कंपनियों की संरचना से लेकर इनकी कार्यशैली में काफ़ी बदलाव देखने मिला है। इस Article में भी हम इसी के बारे में बात करेंगे, एवं भारत की सबसे बड़ी IT कंपनी के बारे में जानेंगे।

bharat ki sabse badi it company

भारत की सबसे बड़ी IT कंपनी name :-

कुल राजस्व को आधार मानते हुये, वर्तमान समय मे Tata Consultancy Services Limited (TCS) भारत की सबसे बड़ी IT कंपनी है। जुलाई 2020 के नवीन आंकड़ो के अनुसार इसका कुल राजस्व (Revenue) ₹161,541.00 crore मापा गया था, जबकि इसी दौरान इसकी Net Income पहले से बेहतर होकर ₹32,340.00 Crore हो गई थी। इसके साथ ही Market Capitalisation के आधार पर यह भारत की दूसरी सबसे बड़ी कंपनी है। 2018 में TCS, Fortune India 500 की सूची में 11वे स्थान पर काबिज थी, जबकि इसी वर्ष (2018) अप्रैल में Reliance Industries के बाद यह भारत की दूसरी एवं भारत के IT क्षेत्र की पहली कंपनी बन गई थी, जिसका Market Capitalisation, $100 billion तक पहुँचा हो।

TCS एक Indian Multinational Information Technology कंपनी है, जो एक सार्वजनिक निगम के रूप में अपना कार्य करती है। इसकी स्थापना 1968 में हुई थी, जिसको Tata Son’s ने स्थापित किया था। वर्तमान काल मे इसका मुख्यालय Mumbai में स्थित है। IT Services एवं IT Consulting देने वाली यह कंपनी, लोगों को Managed services, Outsourcing तथा Consulting जैसी सुविधाएं भी प्रदान करती है। इसका कार्यक्षेत्र व्यापक है, यह दुनिया के 46 देशों में करीबन 149 स्थानों से अपनी सेवाएं जन मानस तक पहुँचाती है। भारत देश मे यह निगम, IT के लोगों की रोजगार की दृष्टि से, पहली प्राथमिकता है। जिसका प्रत्यक्ष प्रभाव वर्तमान में इस निगम से जुड़े लगभग 4,48,464 कर्मचारी दर्शाते हैं। वर्तमान समय मे इस Company की बागडोर के बारे में बात करे तो, Natarajan Chandrasekaran इसके Chairman है, जबकि CEO एवं MD की भूमिका में Rajesh Gopinathan है।

Finders, Tata Consultancy Services (TCS) की शुरुआत “Tata Computer Systems” के रूप में हुई थी। उस दौरान इस कंपनी ने TISCO (जो वर्तमान में Tata Steel के नाम से जानी जाती है) के साथ मिलकर Central Bank of India के लिए कार्य किया था। 1980 में इसने भारत के पहले Software Research And Development Centre की स्थापना पुणे में की, जिसको Tata Research Development and Design Centre (TRDDC) के नाम से जाना गया। इसके अगले ही वर्ष, इसने भारत का पहला Client-Dedicated Offshore Development Centre भी स्थापित कर लिया। जिसके चलते यह कंपनी देश एवं दुनिया मे चर्चा का विषय बन गई। इसके उपरांत 25 August 2004 में TCS, Publicly Listed Company बन गई। जिसके बाद इसने अपने विस्तार के कदम, कई अन्य क्षेत्रों में भी बढ़ा लिए। 2011 के आते आते इसने Small and Medium Enterprises Market में भी अपना स्थान बना लिया। लेकिन 2013 में इस कंपनी को जब, 6 साल के लिए ₹1100 crore का Contract मिला, तब इसको अपनी Goodwill का एहसास हुआ। यह Contract, Indian Department of Posts को TCS द्वारा सेवाएं प्रदान करने के लिये दिया गया था। 2019 में इसको Four Stevies ने American Business Awards से भी नवाज़ा।

Arvind Patel

Follow us on other platforms too. Stay Connected!

Leave a Comment