भारत की सबसे बड़ी जनजाति कौन सी है ।

दुनिया की सबसे बड़ी जनजातियों की आबादी भारत में रहती है। भारत में संविधान द्वारा चिन्हित की गयी जनजातियों को अनुसूचित जनजाति (Scheduled Tribe) कहा जाता है जिनकी अपनी अलग-अलग परम्पराएँ और संस्कृतियाँ हैं। भारत के सभी राज्यों में अधिसूचित की गयी अनुसूचित जनजातियों की कुल संख्या 705 है। यदि जनसंख्या के हिसाब से देखा जाये तो भारत की सबसे बड़ी जनजाति “भील” है। 2011 की जनगणना के अनुसार भारत में भील जनजाति की जनसंख्या 16,908,907 है। भील जनजाति की कुल जनसंख्या में 8,620,117 पुरुष तथा 8,450,932 महिलाएं शामिल हैं।

bharat ki sabse badi janjati koun si hai

भारत की प्रमुख जनजातियाँ

भारत देश जितना विविध है उतनी ही विविधता लिए यहाँ के लोग और उनकी परम्पराएँ भी हैं। इस देश की बड़ी जनजातियों में भील, गोंड, संथाल, बोड़ो, नाइकडा, ओराओं, सुगाली, गुज्जर, मुंडा, खोंड, कोली महादेव, सहरिया, खासी, कोल, वर्ली, कोकना, कवर, भुमीज, लुशाई, गारो, कोया, मिरी, हलबा, धरूया और त्रिपुरी इत्यादि प्रमुख हैं।

2011 जनगणना के अनुसार भारत की तीन सबसे बड़ी जनजातियाँ हैं:

  1. भील>2.गोंड>3.संथाल

2011 की जनगणना के अनुसार, भारत में जनजातीय आबादी की जनसंख्या 10,45,45,716 है । भारत में जनजातीय आबादी का प्रतिशत कुल आबादी का 8.6% है। इस जनसंख्या का  89.97% ग्रामीण क्षेत्रों में और 10.03% शहरी क्षेत्रों में रहते हैं। भारत के संविधान का अनुच्छेद 366 (25) अनुसूचित जनजातियों को उन समुदायों के रूप में चिन्हित करता है, जो संविधान के अनुच्छेद 342 के द्वारा अनुसूचित हैं।

अनुसूचित जनजाति की आधी से अधिक आबादी भारत के मध्य क्षेत्रों में रहती है। ये राज्य है: मध्य प्रदेश (14.69%), छत्तीसगढ़ (7.5%), झारखंड (8.29%), आंध्र प्रदेश (5.7%), महाराष्ट्र (10.08%), उड़ीसा (9.2%), गुजरात (8.55%) और राजस्थान (8.86%)।

भारत में पुंजाब, चंडीगढ़, हरयाणा, दिल्ली, और पुडुचेरी में जनजाति की कोई आबादी नहीं है। भारत की सबसे बड़ी जनजाति, भील देश के पश्चिमी भाग में अधिक केन्द्रित है।

भारत की जनजाति से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य

  • मध्य प्रदेश में भारत की सबसे बड़ी जनजाति की आबादी रहती है। मध्य प्रदेश में जनजाति की जनसंख्या का प्रतिशत 69% है।
  • भारत के राज्यों में सबसे अधिक जनजाति की आबादी का प्रतिशत मिज़ोरम में43% है।
  • देश के सभी जिलों में केवल 90 ऐसे जिले हैं जहां अनुसूचित जनजाति (ST) की जनसंख्या का प्रतिशत 50% या उससे अधिक है।
  • 2011 की जनगणना के अनुसार भारत का सबसे कम जनजाति वाला राज्य मेघालय (2.5% )है।
  • 2011 की जनगणना के अनुसार भारत में जनजाति की जनसंख्या का लिंगानुपात 990 था जबकि पूरे देश का लिंगानुपात केवल 940 था।
  • देश की कुल आबादी में जनजातिय आबादी का प्रतिशत बढ़ता जा रहा है। 1961 की जनगणना के अनुसार भारत में जनजाति की आबादी का प्रतिशत केवल9 था जो 2011 में बढ़कर 8.6% हो गया है।

One Response

  1. Shumaira khan February 26, 2019

Leave a Reply