भारत में डाक सेवा की शुरुआत कब हुई थी।

आज से कुछ साल पहले तक संचार का सबसे बड़ा माध्यम भारतीय डाक ही होता था। समय के साथ हुए बदलाव ने संचार का रूप ज़रूर बदल दिया है लेकिन फिर भी इसका महत्व अब भी बना ही हुआ है। आज भी भारतीय डाक Courier, Postal Service के क्षेत्र में सक्रिय रूप से अपनी भूमिका निभा रहा है। भारतीय डाक भारत सरकार के Ministry Of Communications के अधीन काम करता है। भारतीय डाक ( India Post ) विश्व की सबसे बड़ी Distributed Postal System है।

bharat me dak seva ki suruwat kab hui thi

विश्व के सबसे बड़े Postal System, India Post ( भारतीय डाक ) की स्थापना 1 अप्रैल 1854 को हुई थी। इस हिसाब से भारतीय डाक 164 साल पुराना हो चुका है। इसका मुख्यालय डाक भवन, संसद मार्ग, नई दिल्ली में है।

भारतीय डाक द्वारा दी जाने वाली सेवाएं

भारतीय डाक कई अलग – अलग तरह की सेवाएं प्रदान करती है। इसमें इसका सबसे प्रमुख सर्विस पत्राचार ( Letter Post ) है। पत्र संचार का सबसे बड़ा माध्यम हुआ करता था। इसका उपयोग आज से कुछ साल पहले तक बड़े स्तर पर होता था। लेकिन अब पहले की अपेक्षा इसका उपयोग कम हुआ है। फिर भी यह बड़े स्तर पर आज भी उपयोग में है। आज भी अधिक्तर Official Letter इसी माध्यम से आते हैं। इसके अलावा Parcel ढोने,EMS सेवाएं, Delivery और Third Party Logistics जैसी सेवाएं प्रदान करती है। इसके अलावा अब Payment Bank जैसी सेवाएं भी भारतीय डाक द्वारा दी जाने लगी है।

  • Army Postal Service

भारत में Army Postal Service यानी ( APS ) सरकार द्वारा नियंत्रित Military Mail Service है। इसका मुख्य उद्देश्य भारतीय सेना से संबन्धित संचार की सेवाएं संचालित करना है। इसका मुख्य काम आर्मी से संबंधित सेवाओं को एक देश से दूसरे देश के लिए तथा भारत में ही एक जगह से दूसरे जगह लाने ले जाने का काम करती है। आर्मी के लिए की जाने वाली सेवाओं का भारतीय डाक द्वारा  किसी तरह का चार्ज नही लिया जाता है।

  • Electronic Indian Postal Order (e-IPO)

eIPO सेवा की शुरुआत 22 मार्च 2013 को की गई थी। इसके द्वारा विदेश में रह रहे भारतीयों के लिए यह सुविधा शुरू की गई के वह RTI की फीस इसके माध्यम से दे सकते थे। 14 फरवरी 2014 को इस सेवा को सभी भारतीयों के लिए शुरू कर दिया गया है।

  • Postal Life Insurance ( PIL )

इस सेवा की शुरुआत अंग्रेजी शासन में ही 1 फरवरी 1884 में कई गयी थी। इस सुविधा को आरंभ में सिर्फ पोस्टल कर्मचारियों के लिए ही शुरू किया गया था। 1888 में इसमें Telegraph Department को भी शामिल किया गया। इसके बाद 1894 में इसमें P & T विभाग की महिला कमर्चारी को भी शामिल कर लिया गया। यह Insurance Service भारत का सबसे पुराना Insurance सर्विस है।

  • Banking

भारतीय डाक ने 2013 में इस क्षेत्र में उतरने का फैसला किया । अगस्त 2015 में RBI ने भारत में 11 आवेदकों को Payment Bank के लिए लाइसेंस जारी किया। इसमें भारतीय डाक को भी लाइसेंस दिया गया। भारतीय डाक ने Post Bank Of India के नाम से Banking Service की शुरुआत की। भारतीय डाक ATM सेवाएं भी प्रदान करती है।

Leave a Reply