भारत में कितने रेलवे ज़ोन हैं। Number Of Railway Zone In India

भारतीय रेल विश्व के सबसे बड़े Rail Network में से एक है। इतने बड़े System को भारत सरकार के अंतर्गत आने वाली संस्था Indian Railway Control करती है। इसे सुगमता से चलाए रखने के लिए भारतीय रेल कई ज़ोन और फिर मंडल में बंटा हुआ है। भारतीय रेल 17 ज़ोन में बंटा हुआ है।प्रत्येक रेलवे जोन के प्रमुख GM होते हैं जबकि मंडल के प्रमुख DRM होते हैं।

bharat me kul kitne railway zone hai

भारत के Railway ज़ोन

  1. Northern Railway

Northern Railway को NR से Represent किया जाता है। इसका मुख्यालय New Delhi Railway Station है। आधिकारिक रूप से इसे रेलवे ज़ोन का दर्जा 14 अप्रैल 1952 को मिला था।

  1. North Eastern Railway ( NER )

North Eastern Railway ( पूर्वोत्तर रेलवे ) को short में NER कहा जाता हैं। इसका मुख्यालय गोरखपुर में है। इसकी भी स्थापना 14 अप्रैल 1952 को की गई थी। यह ज़ोन गोरखपुर के साथ साथ नेपाल बॉर्डर तक जाता हैं। दक्षिण में यह वाराणसी और अयोध्या तक Cover करता है।

  1. Northeast Frontier Railway ( NFR / पसीरे )

Assam में 1881 में रेलवे के आगमन हुआ था। इस ज़ोन की स्थापना 14 अप्रैल 1952 को की गई थी। इसका मुख्यालय Assam के Maligaon में है।

  1. Eastern Railway Zone ( ER / पूरे / पूर्व )

4 डिवीजन को समेटे इस ज़ोन का मुख्यालय कोलकाता में है। इसकी भी स्थापना 14 अप्रैल 1952 को ही हुआ था।

  1. South Eastern Railway Zone ( SER )

इस ज़ोन की शुरुआत 1955 में हुई थी। इसका मुख्यालय पश्चिम बंगाल के Garden Reach, Kolkata में स्थित है।

  1. South Central Railway Zone ( SCR / दमरे )

इसकी स्थापना 2 अक्टूबर 1966 में हुआ था। इस ज़ोन के अंतर्गत 6,168 किलोमीटर रेलवे Tract आते हैं। इसका मुख्यालय सिकंदराबाद में हैं।

  1. Southern Railway ( SR )

तीन राज्यों के रेलवे को मिला कर इस ज़ोन का गठन किया गया था। इसकी स्थापना 14 अप्रैल 1951 को हुआ था। इसका मुख्यालय चेन्नई में है।

  1. Central Railway ( CR / मध्य )

मुंबई के Chhatrapati Shivaji Maharaj Terminal में इसका मुख्यालय है। इसी ज़ोन को भारत में पहली बार Train चलाने का श्रेय है।

  1. Western Railway ( WR / परे )

यह भारत के सबसे Busiest Rail Network में से एक ज़ोन है। भारत के कई महत्वपूर्ण रेलवे Line इसी ज़ोन से ही कर गुज़रते हैं। इसकी भी स्थापना 5 नवबंर 1951 में हुई थी। इसका मुख्यालय Churchgate, Mumbai में है।

  1. South Western Railway ( SWR )

1 अप्रैल 2013 को जोन के रूप में स्थापित होने वाले इस ज़ोन का मुख्यालय Hubballi ( हुबली ) में है। इसके अंतर्गत तीन मंडल आते हैं।

  1. North Western Railway ( NWR / उपरे )

यह ज़ोन काफी बड़ा है। इस ज़ोन के अंतर्गत 59 हज़ार से अधिक कर्मचारी काम करते हैं। इस ज़ोन में 658 स्टेशन परते हैं। 1 अक्टूबर 2002 को स्थापित इस ज़ोन का मुख्यालय जयपुर में है।

  1. West Central Railway ( WCR / पमरे )

1 अप्रैल 2003 को स्थापित इस ज़ोन का मुख्यालय जबलपुर में है। इसके अंतर्गत 2911 किलोमीटर के Rail Network आते हैं।

  1. North Central Railway ( NCR / उमरे )

इस ज़ोन का सबसे बड़ा Railway Station Kanpur Central है। इसकी भी स्थापना 1 अप्रैल 2003 को हुई थी।

  1. South East Central Railway ( SECR / दपूमरे )

पहले यह सोन SER का पार्ट हुआ करता था। इस ज़ोन का उद्घाटन 20 सितंबर 1998 को हुआ था लेकिन इसे देश के नाम 1 अप्रैल 2003 को किया गया। इसका मुख्यालय बिलासपुर रेलवे स्टेशन है।

  1. East Coast Railway ( ECoR / पूतरे )

1 अप्रैल 2003 को ही स्थापित इस ज़ोन का मुख्यालय भुवनेश्वर में है। इस ज़ोन के अधिक्तर Railway Route East Coast के पास ही है। इसी आधार पर इस ज़ोन का नाम रखा गया है।

  1. East Central Railway ( ECR / पूमरे )

8 सितंबर 1996 को बने इस इस ज़ोन का मुख्यालय बिहार के हाजीपुर में है। इसके अंतर्गत 5 मंडल आते हैं।

  1. Kolkata Metro Railway

देश के पहले मेट्रो लाइन, कोलकाता मेट्रो की शुरुआत 1984 में हो गयी थी। 29 दिसंबर 2010 को यह भारतीय रेलवे का 17वें ज़ोन बना।

Read also :-

Leave a Reply