भोपाल की जनसंख्या कितनी है ? Population of Bhopal

2011 की जनगणना के अनुसार भोपाल शहर की कुल आबादी 17,98,218 यानी कुल मिलाकर भोपाल की आबादी 18 लाख के आसपास थी। यह आबादी केवल Bhopal Municipal corporation के तहत आने वाले क्षेत्र की है। इस आबादी में 9,36,168 पुरुष तथा 8,62,050 महिलाएं हैं। 2011 के आंकड़ों के अनुसार बात करें तो भोपाल शहर की औसत साक्षरता दर 85.24% थी। वहीं, इसमें महिलाओं की साक्षरता दर 80.1% तथा पुरुषों की 89.2 प्रतिशत थी।

आबादी के आधार पर भोपाल शहर भारत का 16वां सबसे बड़ा शहर है। वहीं, पूरी दुनिया में आबादी के लिहाज से भोपाल शहर दुनिया का 131वां सबसे बड़ा शहर माना जाता है।

bhopal ki jansankhya kitni hai

भोपाल शहर को भारत के सबसे स्वच्छ और सबसे हरियाली वाले शहरों में से एक माना जाता है। इस कारण इसे City of lake के नाम से जाना जाता है। प्राकृतिक रूप से भोपाल भारत के सबसे खूबसूरत शहरों में से एक माना जाता है। इसलिए इसे कई और अन्य नामों से जाना जाता है।

भोपाल शहर को पूरे भारत में सबसे स्वच्छ राजधानी होने का गौरव भी प्राप्त है। 2017, 2018 तथा 2019 यानी लगातार 3 वर्षों तक भोपाल शहर को भारत का सबसे स्वच्छ Capital City का अवार्ड भी मिल चुका है।

2011 के आंकड़ों के अनुसार भोपाल शहर की कुल आबादी में 69.2% की आबादी के साथ हिंदू धर्म सबसे बड़ा धर्म है। वहीं, भोपाल शहर में मुसलमानों की आबादी 26.28% है। जैन धर्म के मानने वालों की आबादी 1.35%, क्रिश्चियन की आबादी 1.12% तथा बौद्ध धर्म मानने वालों की आबादी 1.08% है। इन सबके अलावा 0.6% में सिक्ख तथा बाकी अन्य धर्मों के मानने वाले या किसी भी धर्म में विश्वास न करने वाले लोग शामिल हैं।

भोपाल शहर को मध्य प्रदेश का सबसे अहम शहर माना जाता है। इसकी बड़ी वजह यह है कि राजधानी होने के साथ-साथ मध्यप्रदेश की एक बड़ी आर्थिक गतिविधियां यहीं से नियंत्रित होती हैं। मध्यप्रदेश में चल रहे दर्जनों छोटे-बड़े उद्योग भोपाल शहर के ही अलग-अलग हिस्सों में स्थित है। खासकर Old Bhopal City में बड़े स्तर पर इलेक्ट्रॉनिक, Medical Equipment’s, कॉटन, केमिकल और ज्वेलरी के कारखाने हैं। जिस कारण मध्य प्रदेश की कुल जीडीपी में भोपाल बड़ा योगदान देता है।

औद्योगिक केंद्र होने के साथ-साथ भोपाल शहर मध्यप्रदेश का शिक्षा का बड़ा केंद्र भी है। राज्य के कई नामी शिक्षण संस्थान भोपाल शहर में ही स्थित है। भोपाल में मध्य प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों के अलावा बिहार, झारखंड समेत भारत के अन्य दूसरे राज्य से भी छात्र शिक्षा के लिए आते हैं।

आधिकारिक रूप से भोपाल में अंतिम बार जनगणना 2011 में ही की गई थी। लेकिन, अनुमानित आधार पर 2020 तक भोपाल की आबादी में वृद्धि दर्ज की गई है। अनुमानित आबादी की बात करें तो 2020 में भोपाल की आबादी 23,77,276 तक जा पहुंची है।

Leave a Reply