ब्लड ग्रुप की खोज किसने की थी इसके कितने प्रकार होते है।

रक्त हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। रक्त हमारे अंगों को ऑक्सीजन और पोषक तत्व पहुंचाने के साथ-साथ संक्रमण से लड़ता है तथा खून की नसों के क्षतिग्रस्त होने पर रक्त के थक्के जमाकर हमें अत्यधिक रक्तस्राव से बचाता है। हम सभी ने A, B, AB और O ब्लड ग्रुप के बारे में सुना है। जब भी किसी व्यक्ति को किसी कारणवश खून चढ़ाया जाता है तो इस बात का अवश्य खयाल रखा जाता है कि खून देने वाले का खून और जिसे रक्त दिया जा रहा है, उन दोनों का रक्त अनुकूल (Compatible) है कि नहीं। यदि इस बात का खयाल नहीं रखा गया तो रक्त प्राप्तकर्ता की मृत्यु हो सकती है। ABO ब्लड ग्रुप बहुत प्राचीन हैं। लेकिन मनुष्यों और वानरों में एक समान पाये जाने वाले ब्लड ग्रुप कि खोज किसने कि और आखिर ये ब्लड ग्रुप क्या होता है? इस लेख में इन सभी प्रश्नों को समझाया गया है। ब्लड ग्रुप की खोज किसने और कब की ?

blood group ki khoj kab aur kisne ki thi

ब्लड ग्रुप की खोज ऑस्ट्रियाई इम्यूनोलॉजिस्ट कार्ल लैंडस्टीनर(Karl Landsteiner) ने 1901 में की थी। उन्होने ने यह सिद्ध भी किया कि यदि एक ही प्रकार का रक्त किसी व्यक्ति को चढ़ाया जाए तो रक्त कोशिकाओं का विनाश नहीं होता है। इसके विपरीत यदि किसी व्यक्ति को उसके रक्त समूह से अलग कोई अन्य प्रकार का रक्त चढ़ाया जाता है तो उसकी मृत्यु हो सकती है। इसके अलावा 1901-1903 में उन्होने बताया कि ब्लड-ग्रुप या रक्त समूहों को निर्धारित करने वाली विशेषताएं हमें आनुवांशिक रूप से मिलती हैं। ABO रक्त समूह प्रणाली का वर्गीकरण लाल रक्त कोशिकाओं की सतह पर पाई जाने वाली एंटीजन ए और बी की उपस्थिति या अनुपस्थिति से निर्धारित किया जाता है। इस प्रकार मनुष्यों में type A, type B, type O, या type AB ब्लड ग्रुप हो सकता है।  ब्लड-ग्रुप क्या होता है?
ब्लड-ग्रुप या रक्त समूह, मनुष्यों के अलग-अलग प्रकार के खून को वर्गीकृत करने का तरीका है। ब्लड-ग्रुप जटिल रासायनिक प्रणाली हैं जो रक्त कोशिकाओं की सतह पर पाए जाते हैं। दो प्रमुख ब्लड-ग्रुप सिस्टम ABO प्रणाली और Rh (D) प्रणाली हैं जो खून के transfusion में उपयोग होती हैं।

रक्त समूह के प्रकार दुनिया में सबसे ज्यादा “O” ब्लड ग्रुप पाया जाता है। यह विशेषकर दक्षिणी और मध्य America में Prevalent है। एशिया, मुख्यतः उत्तरी भारत में टाइप B प्रकार का रक्त-समूह अधिक विद्यमान है। हमारे शारी में ABO antigens हमारे जन्म से काफी पहले बनने शुरू हो जाते हैं। एक बार जो ब्लड ग्रुप हमारे शरीर में बन जाता है वही जिंदगी भर निश्चित रहता है।पिछले 100 वर्षों से अधिक के अनुसंधान और प्रयोगों के बाद वैज्ञानिकों ने यह पता लगाया है कि ABO रक्त-समूह, 20 से अधिक मानव रक्त समूहों में से केवल एक है। Rh factor एक अन्य ब्लड ग्रुप है, जो रक्त-समूहों में “पॉजिटिव” या “नेगेटिव” का निर्धारण करता है। MN, Diego, Kidd और Kell इत्यादि अन्य ब्लड-ग्रुपों के उदाहरण हैं। 8 प्रमुख ब्लड-ग्रुप ये हैं: ·

  • A+
  • B+
  • AB+
  • O+
  • A-
  • B-
  • AB-
  • O-

1930 में, कार्ल लैंडस्टीनर को ब्लड ग्रुप्स के ऊपर किए गए कार्य के लिए नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। हमारे रक्त का तरल हिस्सा, जिसे प्लाज्मा कहा जाता है, ब्लड प्रेशर को बनाए रखने, रक्त के थक्के जमाने, महत्वपूर्ण प्रोटीनों की आपूर्ति करने और हमारे शरीर में सही pH संतुलन बनाए रखने के लिए आवश्यक होता है।

Finders ब्लड ग्रुप की खोज किसने की, Who discovered Blood group? की जानकारी इस लेख के माध्यम से आपके साथ शेयर की है परंतु अभी भी आप ब्लड ग्रुप ब्लड ग्रुप की खोज से संबंधित अन्य questions के answers जाना चाहते हैं तो आप हमारी team से पूछ सकते हैं हमसे जुड़ें एवं blood group खोज किसने की का लेख पढ़ने के लिए धन्यवाद

Read also :-

Leave a Reply