छत्तीसगढ़ में लोकसभा की कितनी सीटें हैं।

छत्तीसगढ़ का निर्माण मध्य प्रदेश के कुछ क्षेत्रों को अलग कर के 1 नवम्बर 2000 को किया गया था। नया राज्य बनने के बाद मध्य प्रदेश राज्य की कुछ लोकसभा सीटें छत्तीसगढ़ को दे दी गईं थीं। इस आवंटन के बाद छत्तीसगढ़ में लोकसभा की कुल 11 सीटें हैं। छत्तीसगढ़ की लगभग तीन चौथाई जनसंख्या ग्रामीण है और गाँव में रहती हैछत्तीसगढ़ में लोकसभा की कितनी सीटें हैं?

chhattisgarh me loksabha seat kitni hai

छत्तीसगढ़ की कुल 11 लोकसभा सीटों में से एक सीट अनुसूचीत जाती के लिए आरक्षित है। जबकि छत्तीसगढ़ की 11 लोकसभा सीटों में से 4 सीटें अनुसूचीत जनजाति के लोगों के लिए आरक्षित हैं। छत्तीसगढ़ राज्य की विधानसभा में विधानपरिषद यानि की दूसरा सदन नहीं है। इस कारण से छत्तीसगढ़ में विधानपरिषद की कोई सीट नहीं है। क्षेत्रफल की दृष्टि से छत्तीसगढ़ भारत का दसवां सबसे बड़ा राज्य है। जनसंख्या के मामले में छत्तीसगढ़ भारत का 17वां सबसे आधी आबादी वाला राज्य है।

छत्तीसगढ़ में लोकसभा की सीटों का यह आंकड़ा वर्ष 1976 से स्थिर है जब संविधान (चालीसवां संशोधन) अधिनियम, 1976 के द्वारा भारत में लोकसभा सीटों को फ्रीज़ कर दिया गया था। छत्तीसगढ़ की 11 लोकसभा सीटें वर्ष 2026 तक निश्चित हैं और ये घट-बढ़ नहीं सकती हैं। वर्तमान में राज्यों की लोकसभा सीटें वर्ष 1971 की जनगणना के अनुसार तय की गईं थीं।

  • छत्तीसगढ़ लोकसभा सीटें : 11
  • राज्य सभा सीटें : 5                                                                                                                     
  • विधानसभा सीटें : 90
  • विधानपरिषद सीटें : 0

छत्तीसगढ़ की सभी 11 लोकसभा सीटों के नाम

  1. सर्गुजा
  2. यगढ़
  3. जांजगीर
  4. बिलासपुर
  5. सारंगढ़
  6. रायपुर
  7. महासमुंद
  8. कांकेर
  9. बस्तर
  10. दुर्ग
  11. राजनांदगांव

छत्तीसगढ़ की आधिकारिक भाषा हिन्दी है। छत्तीसगढ़ की सभी 11 लोकसभा सीटों पर प्रत्यक्ष मतदान होता है। भारत के राज्यों में राज्य सभा सीटों के लिए अप्रत्यक्ष मतदान करने की व्यवस्था होती है। छत्तीसगढ़ राज्य की राजधानी रायपुर है। रायपुर छत्तीसगढ़ का सबसे बड़ा शहर भी है। छत्तीसगढ़ में 27 जिले हैं। संविधान के अनुसार लोकसभा की सीटों का राज्यों में बंटवारा इस तरह किया गया है कि किसी भी राज्य में लोकसभा सीटों की संख्या और उस राज्य की जनसंख्या का अनुपात सभी राज्यों के लिए जहां तक संभव हो बराबर या एक समान हो। छत्तीसगढ़ में लोकसभा की सीटों की संख्या का बदलाव 2026 या उसके बाद तय होगा।

Leave a Reply