दुनिया के 10 सबसे बड़े मंदिर कौन से है – Vishwa ka Sabse Bada Mandir

शायद आज कोई ही ऐसा इंसान होगा जो भगवान में आस्था नहीं रखता हो । सभी लोग भगवान में आस्था रखते हैं हां यह बात जरूर है सभी अलग-अलग भगवान पर आस्था रखता है । इसी आस्था के चलते कई मंदिरों का निर्माण भी किया जाता है । इसीलिए आज की इस post में हम बात करने जा रहे हैं सबसे बड़े मंदिर अर्थात दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर कौन सा है और कहाँ स्थित है ।

duniya ke sabse bada mandir ka naam kya hai

आज हम जिन मंदिर की बारे में बात करने जा रहे हैं वह मंदिर दुनिया के सबसे बड़े मंदिर होने के साथ यह अपने वास्तुशिल्प, अद्भुत कलाकारी और विशालता के लिए भी जाना जाता हैं यह मंदिर प्राचीन काल में बनाए गए हैं लेकिन इनकी कलाकारी देखकर ऐसा लगता है जैसे इन्हें आज की मशीनों द्वारा बनाया गया हो आइए जानते हैं इन मंदिरों के बारे में और साथ में जानते हैं कि दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर कौन सा है ।

Duniya ke sabse bade mandir ke baare me jankari

  • अंकोरवाट मंदिर

अंकोरवाट मंदिर दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर तो है ही साथ ही यह हिंदू धर्म का भी सबसे बड़ा मंदिर है यह धार्मिक स्थल पूरी दुनिया भर में अपनी विशालता के लिए जाना जाता है यह मंदिर कुल 820,000 वर्ग मीटर में फैला हुआ है इस विशालकाय मंदिर को राजा सूर्यवर्मन द्वितीय के द्वारा 12 वीं शताब्दी में बनाया गया था जो भगवान विष्णु को समर्पित है और इस मंदिर की दीवारों पर Indian scripture के प्रसंगों का चित्रण भी किया गया है इतना ही नहीं इस मंदिर को Unesco world heritage site ने इसे अपनी में भी जगह दी गई है ।

  • श्री रंगनाथस्वामी मंदिर

श्री रंगनाथस्वामी मंदिर को श्रीरंगम मंदिर के नाम से भी जाना जाता है यह मंदिर भारत के राज्य तमिलनाडु के त्रिची शहर में स्थित है यह मंदिर भारत का सबसे बड़ा हिंदू मंदिर भी है जो कि 631,000 वर्ग मीटर में फैला हुआ है यह मंदिर भी भगवान श्री विष्णु को समर्पित है जहा पर श्री विष्णु भगवान की पूजा श्रीरंगम के रूप में की जाती है इस मंदिर में हर दिन हजारों भक्त आते हैं ।

  • अक्षरधाम मंदिर

स्वामीनारायण मंदिर के नाम से भी जाना-जाने वाला यह मंदिर 240,000 वर्ग मीटर में फैला हुआ है जो भारत की राजधानी दिल्ली में स्थित है मंदिर का निर्माण आधुनिक समय में हुआ था जो कि हिंदू धर्म का एक बहुत ही बड़ा धार्मिक स्थल है यह मंदिर हर साल लाखों में पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है ।

  • थिथ्लई नटराज मंदिर

यह मंदिर 160,000 वर्ग मीटर में फैला हुआ है यह मंदिर भारत के दक्षिणी राज्य तमिलनाडु के चितंबरम में स्थित है यह मंदिर भगवान शिव को समर्पित है इसके अलावा यहां पर अन्य देवता जैसे गणेश, मुरुगन, गोविंद राजा पेरुमल आदि की पूजा भी होती है इस मंदिर को थिथ्लईनटराज मंदिर के अलावा चिदंबरम मंदिर के नाम से भी जाना जाता है ।

  • बेलूर मठ

बेलूर मठ मंदिर पश्चिम बंगाल में हुगली नदी के दक्षिणी तट के किनारे पर स्थित है यह मंदिर लगभग 160,000 वर्ग मीटर में फैला हुआ है इस मंदिर में माता महाकाली की पूजा होती है यह भी एक हिंदू मंदिर है इसे स्वामी विवेकानंद द्वारा स्थापित किया गया था यह मंदिर रामकृष्ण मिशन का मुख्यालय केंद्र भी है ।

  • बृहदेश्वर मंदिर

भगवान शिव जी को समर्पित यह मंदिर 1010 ई.सा. में राजा चोल द्वारा बनाया गया था इस मंदिर में एक शिवलिंग विराजमान है जिसकी ऊंचाई लगभग 12 फीट है यह मंदिर भी भारत के तमिलनाडु राज्य के तंजावुर शहर में स्थित है यह मंदिर 124,000 वर्ग मीटर में फैला हुआ है इसीलिए यह भारत की विशाल संरचनाओं में से एक मंदिर कहलाता है क्योंकि मंदिर में स्थित एक स्तंभ की ऊंचाई 200 फीट है जोकि पुराने समय में मानव द्वारा बनाई गई सबसे ऊंची संरचना रही होगी इतना ही नहीं यह मंदिर unesco world heritage site की सूची में भी शामिल है ।

  • अन्नामलाईयर मंदिर

यह मंदिर भी तमिलनाडु में स्थित है जिसका कुल छेत्रफल 101,171 वर्ग मीटर है जो कि हिन्दू धर्म के तीन प्रमुख भगवान ब्रम्हा, विष्णु, शिव में एक भगवान शिव को समर्पित है जहा पर उनकी आराधना होती है यह मंदिर सबसे प्राचीन मंदिरों में से एक है जो कि विश्वभर में अपनी कलाकृति के लिए जाना जाता है ।

Leave a Reply