भारत का सबसे लंबा राजमार्ग कौन सा है।

विश्व की दूसरी सबसे बड़ी आबादी वाला देश होने के कारण भारत की ज़रूरतों को पूरा करने के लिए भी काफी संसाधनो की ज़रूरत पड़ती है। इंसान की मूलभूत ज़रूरतों में सड़क भी शामिल है। सड़क भारत में परिवहन का सबसे बड़ा माध्यम है। इस कारण भारत में सड़कों का जाल ही बिछा हुआ है। भारत में अलग-अलग स्तर के सड़क हैं। इनमें  कुछ State Highway हैं ,तो कुछ National Highways. इसके अलावा भी स्थानीय स्तर पर सड़के बनी हुईं हैं।

bharat ka sabse lamba rajmarg koun sa hai

भारत में सड़कों का जाल ही बिछा हुआ है। सड़कों की लंबाई के मामले में भारत में मौजूद Road Network विश्व का दूसरा सबसे बड़ा Road Network है। भारत में सड़कों की कुल लंबाई 43,20,000 किलोमीटर है। इनमें से 1000 किलोमीटर की लंबाई की एक्सप्रेसवे, 79,243 किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्ग ( National Highway ) तथा 1,31,899 किलोमीटर State Highway तथा अन्य ज़िले से संबंधित सड़के तथा ग्रामीण सड़के हैं। सड़कों के इतने बड़े तंत्र की बात करें तो National Highway व्यापार की दृष्टिकोण के काफी महत्वपूर्ण हैं। भारत में मौजूद National Highway अलग अलग लंबाई की हैं। इनमें से सबसे लंबी National Highway 44 ( NH 44 या राष्ट्रीय राजमार्ग 44 ) है।

राष्ट्रीय राजमार्ग 44 – भारत की सबसे लंबी राजमार्ग

  • संक्षिप्त परिचय

यह भारत की सबसे लंबी सड़क भारत के एक छोर से शुरू हो कर दूसरे छोर पर खत्म होती है। NH 44 भारत की सबसे लंबी चालू सड़क है। यह उत्तर से दक्षिण की ओर जाती है। National Highway 44 की शुरुआत श्रीनगर से होती है तथा यह लंबी दूरी तय करता हुआ अलग-अलग राज्यों से होते हुए कन्याकुमारी में जा कर खत्म होती है। भारत के इस सबसे लंबी सड़क के रख-रखाव और देखभाल का ज़िम्मा भारत सरकार के अंतर्गत आने वाले Central Public Works Department ( CPWD ) के पास है।

भारत के सबसे लंबे राजमार्ग की लंबाई

National Highway की कुल लंबाई 3745 किलोमीटर है जो कि अलग-अलग States से हो कर जाती है। यह मुख्यतः जम्मू कश्मीर, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक तथा तमिलनाडु से हो कर गुज़रती है। राज्यवार NH 44 की लंबाई को देखें तो इसकी लंबाई पंजाब में 254 किलोमीटर, हरियाणा में 184,  उत्तर प्रदेश 128 , मध्यप्रदेश 504, महाराष्ट्र 232, तेलंगाना 504, आंध्र प्रदेश 250, कर्नाटक में 125 किलोमीटर तथा तमिलनाडु में सबसे अधिक 627 किलोमीटर है।

National Highway 44 का निर्माण

इस सबसे लंबी सड़क का निर्माण एक साथ नही किया गया है, बल्कि इसका निर्माण 7 अलग अलग National Highway को मिलने के बाद किया गया हैं। इसमें मुख्यतः  NH 1A, NH 1, NH3, NH 75, NH 26 तथा NH 7 शामिल है। इन सड़कों को देखें तो NH 1 जम्मू कश्मीर के श्रीनगर से निकल कर पंजाब तथा हरियाणा होते हुए दिल्ली में आ कर खत्म होता था। इसी तरह NH 2 दिल्ली से शुरू हो कर आगरा में समाप्त होती थी , NH 3 आगरा से ग्वालियर तक जाती थी। इस मार्ग को आगरा बॉम्बे हाइवे के नाम से भी जाना जाता था। NH 75 तथा NH 26 झांसी से हो कर जाती थी तथा NH 7 तेलंगाना तथा आंध्र प्रदेश के शहरों से होते हुए अंततः कन्याकुमारी तक जाती थी। इन सभी 7 अलग अलग सड़को को मिलाकर NH 44 के रूप में स्थापित किया गया।

Leave a Reply