जापान का प्राचीन नाम क्या है ? old name of Japan

वैसे अगर आपने कभी जापान के झंडे को  ध्यान से देखा होगा तो आपको समझ में आ गया होगा कि जापान को आज भी क्यों “Land of Rising Sun ” कहा जाता है। परंतु अगर जापान के पुराने नामों  की बात की जाए तो जापान के एक नहीं बल्कि दो पुराने नाम है। पहला नाम है निपोन  nippon और दूसरा नाम है नीहोन nihone।

आपको यह जानकर अचरज हो सकता है कि इन दोनों शब्दों को  जपानी  भाषा में एक तरह ही लिखा जाता है। nippon और nihone  दोनों का ही मतलब होता है वह जगह जहां से  सूर्य निकलता है। जी हां जापानी संस्कृति में सूर्य का बड़ा महत्व है आज का जापानी झंडा देखकर तो आप यह समझ ही सकते हैं परंतु अगर आपने जापानी साम्राज्य का झंडा कभी देखा होगा तो उसके केंद्र में भी सूर्य है। अब जब आपने इस सवाल का जवाब जान लिया  कि ,जापान का प्राचीन नाम क्या है ? तो उस देश के विषय में और भी रोचक जानकारियों से आपको अवगत कराते हैं जिसे सारी दुनिया “Land of Rising Sun ”  कहती है।

japan ka purana naam

जापान की जानकारी

जापान एक पूर्वी एशियाई देश है। जो प्रशांत महासागर में स्थित है। जापान देश के अंतर्गत 6852 आईलैंड आते हैं। इस देश की आधिकारिक भाषा जापानीज भाषा है। जापानी संस्कृति में जापानी भाषा कितनी महत्वपूर्ण है इसका अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि दुनिया के दो सबसे ज्यादा पढ़े जाने वाले अखबार जापानी भाषा के हैं। जी हां वह ना तो हिंदी है ना हीं अंग्रेजी बल्कि एक छोटे से देश जापान के हैं।

सरल भाषा में कहा जाए तो जापानी अपनी भाषा में पढ़ना लिखना बोलना पसंद करते हैं। जापान जिस वर्तमान संविधान के अनुसार चल रहा है उसकी स्थापना का दिन 3 मई 1947 का है। जापान का कुल क्षेत्रफल 377,973 वर्ग किलोमीटर है। यहाँ की जनसंख्या 12,63,17,0000 है। जापान एक अत्यंत घना बसा हुआ देश है। जी हां जापान का जनसंख्या घनत्व 334 व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर है जबकि भारत का जनसंख्या घनत्व लगभग 200 व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर के आसपास है। जापान की मुद्रा  yen   है। जापान एक बहुत बड़ी आर्थिक ताकत है। जापान दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है।

जापान का दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था होना एक अत्यंत महत्वपूर्ण बात है क्योंकि दूसरे विश्वयुद्ध के बाद यह देश पूरी तरह  तबाह हो चुका था। 1945 से लेकर आने वाले  30 वर्षों में इस देश  ने इतनी तरक्की की कि यह दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया। जी हां तीन चार वर्ष पहले तक जापान दुनिया की  दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था था। कुछ साल पहले जापान की दूसरी जगह चाइना ने ले ली जिसके पश्चात जापान दुनिया की तीसरी सबसे  बड़ी अर्थव्यवस्था रह  गया।

जापान के विषय में अन्य  रोचक तथ्य

आपने यह बात तो सुनी होगी कि भारत की 70% जनसंख्या 30 या उससे कम आयु की है। परंतु आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि जापान की जनसंख्या का 50 से ज्यादा प्रतिशत हिस्सा 50 वर्ष या उससे ज्यादा उम्र के लोगों का है। इसीलिए कभी-कभी समाचार पत्रों में जापान को  बूढ़ा देश भी कहा जाता है।

जापान में कानून व्यवस्था  इतनी बेहतरीन है कि इस देश में अपराध की दर अत्यंत कम है। आपने भारत का स्वच्छ भारत अभियान तो सुना होगा परंतु जापान में लगभग 70 सालों से बच्चों को सफाई करना स्कूल में सिखाया जा रहा है। जापान के बारे में वैज्ञानिकों का कहना है कि यह उस पट्टी में बसा है जिसमें लगातार हलचल होती रहती है। जिसके फलस्वरूप जापान में  भयंकर भूकंप आते हैं। आप यह सुनकर आश्चर्यचकित हो जाएंगे कि अनुमान के अनुसार जापान में प्रति वर्ष 1500 भूकंप आते हैं।

जी हां सरल भाषा में कहा जाए तो प्रतिदिन लगभग चार से पांच भूकंप। जापान का सबसे ऊंचा पर्वत FUJI माउंटेन है। जापान में वैसे तो लोकतंत्र है परंतु इसका मुखिया आज भी जापानी सम्राट होता है। वर्तमान जापानी सम्राट का नाम है अकीहीतो। जापान में Shinto  धर्म को मानने वाले लोग सबसे ज्यादा रहते हैं। यह बौद्ध धर्म का ही एक प्रकार है। जापान की राजधानी टोक्यो है। परंतु जापान की सांस्कृतिक राजधानी क्यूटो है।

यहां के सबसे बड़े शहरों में हिरोशिमा और नागासाकी भी शामिल है। जी हां यह वे दो शहर है जहां पर दूसरे विश्व युद्ध के दौरान परमाणु बम गिराया गया था। जापानी उद्यमशीलता का उदाहरण इसी से मिलता है कि उस देश ने इन दोनों शहरों को अपने देश के सबसे  बेहतरीन शहरों में बदल दिया। यह शहर कितने बेहतरीन है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि, हिरोशिमा में तो ओलंपिक तक हो चुका है। हमें उम्मीद है कि जापान के विषय में आपकी जानकारी बेहतरीन हो गई होगी। ऐसी ही अन्य जानकारियों के लिए हमारे साथ बने रहे।

Leave a Reply