लिंगराज मंदिर कहां स्थित है ? Where is Lingaraj Mandir

ओड़िसा में कई ऐतिहासिक मंदिर मौजूद है। उसी में एक मंदिर लिंगराज मंदिर भी शामिल है। लिंगराज मंदिर ओड़िसा राज्य के भुवनेश्वर में स्थित है। यह भुवनेश्वर का सबसे ऐतिहासिक और सबसे महत्वपूर्ण मंदिर है। माना जाता है कि इस मंदिर का निर्माण 11th Century CE में जा कर पूरा हुआ था। Lingaraja Temple भुवनेश्वर के सबसे बड़े मंदिरों में से एक है। ऐतिहासिक और महत्वपूर्ण मंदिर होने के कारण इस मंदिर में दर्शन और पूजा अर्चना करने के लिए देश भर से श्रद्धालुओं की भीड़ यहां आती रहती है।

इस मंदिर के कारण ही भुवनेश्वर शहर ओड़िसा के महत्वपूर्ण पर्यटन स्थलों में से एक है। लिंगराज मंदिर शिव जी को समर्पित है। इस कारण यहां शिव भक्तों की भारी भीड़ लगी रहती है। यह मंदिर भुवनेश्वर का सबसे बड़ा मंदिर है। इसकी बनावट भी काफी विशाल है। इस मंदिर का Central Tower 180 फिट ऊंचा है। जो कि इस मंदिर की भव्यता को और भी बढ़ाता है।

इस मंदिर में दर्शन के लिए देश भर से लोग आते हैं। आंकड़ो के अनुसार लिंगराज मंदिर में आम दिनों में औसतन 6 हज़ार लोग दर्शन और पूजा अर्चना करने के लिए आते हैं। वहीं, शिवरात्रि के समय इस मंदिर में भक्तों की संख्या काफी अधिक हो जाती है। इस समय यहां विशेष आयोजन किए जाते हैं। इस कारण शिवरात्रि में यहां भक्तों की संख्या 2 लाख तक पहुंच जाती है।

वर्तमान समय में मंदिर की देख रेख Temple Trust Board के द्वारा की जाती है। यह धार्मिक मामलों की देख रेख करता है। चूंकि, यह मंदिर काफी पुराना है और यह एक बेहद ही महत्वपूर्ण ऐतिहासिक धरोहर है। इस कारण मंदिर ट्रस्ट बोर्ड के साथ – साथ इस मंदिर की ज़िम्मेदारी Archaeological Survey of India (ASI) के हाथों में भी है। मंदिर के भवनों इत्यादी के ध्यान ASI के ही ज़िम्मे है।

Leave a Reply