लोकसभा में कितने सांसद तथा सीट होते हैं।

लोकसभा में कितने सांसद होते हैं (how many member of parliament) आज के इस लेख में हम इस विषय पर discuss करेंगे और साथ में ही हम लोकसभा के बारे में सामान्य जानकारी प्राप्त करेंगे।

loksabha ke sansado ki sankhya kitni hai

भारतीय संविधान के अनुसार सदन में सांसदों की संख्या अधिकतम 552 तक हो सकती है जिनमें से 530 सदस्य अलग-अलग राज्यों से होते हैं और 20 सदस्य तक भारत के केंद्र शासित प्रदेशों से हो सकते हैं इसके अलावा 2 सदस्य आंग्ल भारतीय समुदाय से भी चुने जा सकते हैं अगर वर्तमान राष्ट्रपति ऐसा मानते हैं कि इस समुदाय को उचित प्रतिनिधित्व नहीं मिला है तो उस समुदाय के दो सदस्यों को लोकसभा सांसद का प्रतिनिधि बनाया जा सकता है ।

लोकसभा के बारे में सामान्य जानकारी

सबसे पहले तो हम आपको यह बताना चाहते हैं कि भारत में दो सदन होते हैं जिनके नाम लोकसभा सदन और दूसरा राज्यसभा है सदन लोकसभा सदन भारतीय संसद का निचला सदन है जबकि राज्यसभा सदन भारतीय संसद का ऊपरी सदन होता है।

लोकसभा का चुनाव सीधा जनता के द्वारा होता है इसमें क्षेत्र निर्धारित होते हैं जहां प्रत्येक क्षेत्र में हर एक प्रतिनिधि को जनता के द्वारा चुना जाता है और जो जनता के द्वारा चुना जाता है वह लोकसभा का सांसद बनता है सांसद का कार्यकाल 5 साल का होता है।

भारत में लोकसभा सांसद की सीटों को राज्य की जनसंख्या के आधार पर आवंटित किया गया है जैसे कि अगर कोई राज्य जनसंख्या के आधार पर बड़ा है तो वहां से सांसदों की संख्या अभी अधिक होगी।

वर्तमान समय में जो लोकसभा चल रही है वह सोलहवी लोकसभा है जो कि 2014 में नियोजित हुई थी लोकसभा का कार्य करने की अवधि 5 वर्ष होती है परंतु आपातकालीन स्थिति में यह समय से पूर्व इसे भंग भी किया जा सकता है।

Leave a Reply