मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा बांध कौन सा है।

इंदिरा सागर बांध मध्यप्रदेश का सबसे बड़ा जलाशय है। नर्मदा नदी पर निर्मित देश का सबसे बड़ा और एशिया के दूसरे नंबर का जलाशय है। यह न केवल भारत में बल्कि एशिया के सभी देशों से अधिक जल भंडारण की क्षमता रखने वाला बांध है।
यह मध्यप्रदेश के खण्डवा जिले के पुनासा गांव से 10 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

madhya pradesh ka sabse bada bandh koun sa ha

मध्यप्रदेश राज्य में इंदिरा सागर परियोजना एक बहुउद्देशीय परियोजना है। भारत की तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने 1984 में इस बांध का भूमिपूजन किया था। उनके ही नाम पर इस बांध का नामकरण किय गया है। इंदिरा सागर बांध परियोजना पर नर्मदा जलविद्युत विकास निगम ने कार्य किया था। 16 मई 2000 को राष्ट्रीय जलविद्युत विकास निगम एवं मध्यप्रदेश सरकार ने इंदिरा सागर बांध परियोजना हेतु हस्ताक्षर किए थे। जिसे 2004 में पूर्ण किया जा सका।

इस परियोजना के तहत 653 मीटर लंबा तथा 93 मीटर ऊंचा कंक्रीट गुरुत्व बांथ का निर्माण किया गया। इसके निर्माण मे लगभग 4356 करोड़ रुपये की लागत लगाई गई है। इस बांध में विधुत उत्पादन हेतु कुल 8 यूनिटें है, जिनकी क्षमता 125 मेगावाट विद्युत उत्पादन की है, बांध से कुल 1000 मेगावॉट बिजली का उत्पादन किया जा रहा है। सन् 2004 – 05 से इस बांध पर विधुत उत्पादन आरम्भ हुआ था

यह बांध लगभग 913.48 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है। जो कि उर्जा और हरित क्रांति का आधार है। इस बांध को बनाने में लगभग 249 गांव तथा हरसूद नामक शहर की जनसंख्या को विस्थापित करना पड़ा था। इतने विशाल क्षेत्र को अपने में समेटे इस बांध की जल भंडारण क्षमता 12 अरब 20 करोड़ घनमीटर है, जो कि भारत की 125 करोड़ जनसंख्या के लिए पेयजल की पूर्ति कर सकता है।

वर्तमान समय में इंदिरा सागर बांध पर अन्य परियोजनाओं पर कार्य जारी है। जिनमें थर्मल प्लांट का निर्माण प्रमुख है। अनुमान है, कि 2025 तक थर्मल प्लांट के माध्यम से यहां लगभग 5655 मेगावाट बिजली का उत्पादन किया जा सकेगा, यदि ऐसा होता है, तो इंदिरा सागर बांध भारत का सबसे बड़ा पावर हब बन जाएगा।

Read also :-

Leave a Reply