महाभारत का पुराना या प्राचीन नाम क्या था।

Mahabharat ka purana naam kya tha यह जानने से पहले हम जानते हैं कि यह ग्रंथ भारत में हिंदुओं का एक प्रमुख काव्य ग्रंथ है जो सामान्यतः स्मृति वर्ग में आता है।

mahabharat ka purana naam kya tha

यह महाग्रंथ विश्व का सबसे लंबा साहित्य ग्रंथ में से एक ग्रंथ है । जिसको हिंदू धर्म में पंचम वेद माना जाता है।

संत को वेदव्यास द्वारा लिखा गया था उनका पूरा नाम ऋषि कृष्ण द्वैपायन वेद व्यास था । उन्हें इस महाग्रंथ को लिखने में 3 साल का समय लगा था।

महाभारत का पुराना नाम “जयसहिंता” था इससे पहले इसे भारत महाकाव्य के नाम से जाना भी जाना जाता था।

महाभारत में लगभग 1,10,000 श्लोक हैं।

यह महाकाव्य जयसहिंता, भारत और महाभारत इन 3 नामों से लोकप्रिय हैं।

इस ग्रंथ की रचना 3100 ईशा पूर्व की के लगभग मानी जाती है।

यह भी कहा जाता है जब वेदव्यास ने इस ग्रंथ की रचना की जब यह ‘जय महाकाव्य’ के नाम से प्रसिद्ध था पर वेदव्यास के सुझाव पर उनकी शिष्य ने एक यज्ञ समारोह में इस महाकाव्य को ऋषि-मुनियों के समक्ष रखा तब यह भारत के नाम से प्रसिद्ध हुआ।

Leave a Reply