महाभारत में कितने अध्याय हैं इनकी संख्या कितनी है।

महाभारत विश्व इतिहास के सबसे पुराने ग्रन्थों में से एक है। इसका इतिहास अन्य धर्मों के कई ग्रन्थों से पुराना है। माना जाता है कि महाभारत को महर्षि वेद व्यास ने लगभग 3000 साल पहले लिखा था। यह विश्व का सबसे लंबा काव्य संग्रह भी है। महाभारत में कुल 18 अध्याय हैं।  इन अध्यायों को विभिन्न घटनाओं के आधार पर बांटा गया है। इन अध्याय को पर्व के नाम से भी जाना जाता हैं

mahabharat me kitne adhyay hai

महाभारत के अध्याय निम्नलिखित हैं

1. आदि पर्व

आदि पर्व को फिर 19 उप पर्व में बांटा गया है। इस पर्व में कुल 7190 श्लोक हैं।

2. सभा पर्व

सभा पर्व में कौरवों तथा पांडवों के बीच हुए जुए के खेल के बारे में बताया गया है। इसके अलावा इसमें वनवास से लेकर कई अन्य घटनाओं का ज़िक्र है।

3. वन पर्व

इस खंड में पांडवों द्वारा अरण्य के समय के बारे में विस्तारपूर्वक बताया  गया है।

4. वीरता पर्व

वीरता पर्व में पांडवों के वेश बदल कर रहने की घटना का ज़िक्र है। यह उनके वनवास के 13वें वर्ष की घटना को विस्तार से बताता है।

5. उद्योग पर्व

इस में पांडवों के हस्तिनापुर वापस लौटने के बाद हुयी घटनाक्रमों का ज़िक्र है।

6. भीष्म पर्व

इसी पर्व से पांडवों तथा कौरवों के बीच युद्ध का उल्लेख शुरू होता है। यहां युद्ध के 10वें दिन के बारे में बात की गई है।

7. द्रोण पर्व

इस खंड में युद्ध के 13वें दिन का ज़िक्र है जहां गुरु द्रोण युद्ध लड़ते हुए मृत्यु को प्राप्त करते हैं।

8. कर्ण पर्व

द्रोण की मृत्यु के बाद जब कर्ण युद्ध भूमि में आते हैं, तो इसी के बाद की घटनाओं को इस पर्व में बताया गया है।

इन 8 पर्वों के अलावा महाभारत के अन्य 10 अध्याय निम्नलिखित हैं –

9. शल्य पर्व

10. सौप्तिका पर्व

11. स्त्री पर्व

12. शांति पर्व

13. अनुशासन पर्व

14. अश्वमेध पर्व

15. आश्रम्वासिका पर्व

16. मौसला पर्व

17. महाप्रस्तानिका पर्व

18. स्वर्ग आरोहन पर्व

इन सभी पर्वों में भी युद्ध और उससे ही संबन्धित तथ्यों का वर्णन है।

Leave a Reply