गणित (Mathematics) के जनक कौन है। who invented math

हमारे दैनिक दिनचर्या में कोई भी कार्य ऐसा नही है, जिसमें गणित का उपयोग ना होता हो। हमारे कार्य करने के घंटों से लेकर हमारी मासिक आय की गणना करने तक में हम इस विषय का प्रयोग करते है। जोड़ना – घटाना हमको बचपन से ही सिखाया जाता है, जबकि इस विषय की गहराई हमको स्कूल , कॉलेज में आकर पता लगती है। इस विषय के अध्ययन से यह तो साफ होता है, कि इसकी रचना बेहद बुद्धिमान लोगो ने की होगी। इस विषय मे पाये जाने वाले नियम तथा उनकी उपयोगिता इस विषय को अन्य subjects से अलग बनाती है।

maths ke janak koun hai

हम सभी इन नियमों का जानकार तथा समझकर उनका प्रयोग तो करते है, परंतु कभी यह नही सोचते कि इनके जनक कौन रहे होंगे ? उन्होंने इस सब का प्रयोग सबसे पहले किसलिये किया होगा ? आज के इस article मे हम इसी बारे में चर्चा करेंगे तथा जानेंगे कि गणित के जनक कौन थे?

math के जनक का नाम क्या है –

जैसा कि हम सभी जानते है कि, गणित अंकों का विज्ञान है। एवं यह एक विषय विशेष है, इसलिए इसके सभी सिद्धांत किसी एकलौता व्यक्ति की देन नही है। अर्थात हम यह कह सकते है कि इससे संबंधित सभी नियमों तथा पद्धतियो का कोई एक जनक नही है। इनका समय के साथ साथ विकास तथा खोज हुई है। मानव ने अपनी जरूरतों के अनुसार इसका उपयोग किया। जब आदिमानव ने व्यापार करना शुरू किया तो सामान की गणना करने के लिए वह अपनी उंगलियों के प्रयोग करता था। किसी आकृति को चिन्हित करने के लिए गोले तथा आयात का प्रयोग करता था। उसके बाद मानव की जरूरतों मे इज़ाफ़ा हुआ, तो उसने बिंदु से गिनती बोर्ड तथा अबेकस जैसे उपकरणों की खोज की। समय के साथ साथ गणित के कुछ नियमो तथा सिद्धान्तों की खोज होती रही जिनमे से कुछ प्रमुख निम्न है।

  1. बीजगणित (Algebra)

यह गणित के सबसे मुख्य बिन्दु है, इसके इर्द गिर्द गणित घूमता है। बीजगणित अरबी शब्द अल – जब्र के एक प्राचीन चिकित्सा शब्द से बना है, जिसका अर्थ ” टूटे हुये भागों का पुनर्मिलन” से होता है। इसके बारे में सबसे पहला ग्रंथ अलेक्ज़ेड्रिया के डियोफैंटस ने तीसरी शताब्दी ईस्वी में लिखा था।

  • ARCHIMEDES

इनका गणित में योगदान सराहनीय रहा है। यह ग्रीस का एक महान गणितज्ञ था। इसके द्वारा बनाया गया “आर्कमिडीज का सिद्धांत” ने पूरे गणित  का नज़रिया बदल दिया। इसके किसी भी क्षेत्र के आकार और उसके आयतन के बारे में संबंध बताया।

  • Differential (अंतर)

यह गणित का एक मुख्य topic है, जिसका अध्य्यन higher classes में किया जाता है। इसका अविष्कार गॉटफ्रीड विल्हेम लीबनीज ने किया था। यह एक जर्मन दार्शनिक तथा गणितज्ञ थे। जिन्होंने differential and Calculous की खोज की थी।

  • PYTHAGORAS

अगर इस नियम को गणित की जान कहा जाए तो गलत नही होगा। इस नियम के आने से गणित की दिशा तथा दशा दोनों बदल गई। इसका गणित के विकास पर गहरा प्रभाव पड़ा। ऎसा माना जाता है कि इसको समोस के पाइथागोरस ने खोजा था।

  • Zero (शून्य)

शून्य की खोज भारत मे आर्यभट्ट के द्वारा की गई। शून्य के आने से गणना आसान तथा सरल हो गई। आंकड़ो को अब पहले से ज्यादा सरल रूप में समझा जाने लगा।  इसकी खोज लगभग 520 A.D के दौरान हुई थी, जबसे इसके प्रभाव ने गणित को निखार दिया।

Leave a Reply