MBA Full Form – एमबीए का पूरा नाम और यह Degree क्या है

MBA का फुल फॉर्म Master of Business Administration होता है और हिंदी में एमबीए फुल फॉर्म व्यवसाय प्रबंध में स्नाकोत्तर होता है जो कि एक Business course है इस degree के बारे में हम इस आर्टिकल के जरिए संपूर्ण जानकारी प्राप्त करेंगे क्योंकि यह एक ही एक बहुत ही महत्वपूर्ण Business degree है जिसके बारे में हमें सामान्य जानकारी होना चाहिए कि आखिर ! इस कोर्स की शुरुआत कहां से और कैसे हुई थी। इस आर्टिकल में हम एमबीए का इतिहास इसके के क्षेत्र (field) एमबीए admission लेने के लिए योग्यता, jobs और इस कोर्स को करने के बाद कितनी salary मिल सकती है इन सभी प्रश्नों के उत्तर भी जानेंगे है। चलिए शुरू करते हैं ।

अगर आपने अपना graduation complete कर लिया है और अब आप कोई business master degree करने की सोच रहे हैं तो MBA आपके लिए एक अच्छी stream हो सकती है क्योंकि business administration industry में वर्तमान समय में MBA holders की बहुत ज्यादा demand है जो व्यक्ति MBA किए होता है उनको multinational companies में job मिलने के chances ज्यादा होते हैं।

mba full form

लेकिन यहां पर आपको एक बात याद रखने की जरूरत है कि MBA आप जितने अच्छे management college से करेंगे आपकी job मिलने के chance उतने ही ज्यादा रहेंगे जैसे कि अगर आप MBA किसी iim college से करते हैं। तो अन्य colleges की तुलना में अच्छा business management सीख पायेंगे।

MBA Full Form in Hindi

Mba का full form अंग्रेजी में Master of Business Administration और हिंदी में व्यवसाय प्रबंध में स्नाकोत्तर होता है। यह एक master degree है जिसे कोई भी किसी भी stream जैसे bba, b.com, bsc आदि में graduation करने के बाद कर सकता हैं।

MBA full form क्या है इसके बारे में जानकारी प्राप्त के लेने के बाद अब हम म mba course का इतिहास क्या है इसकी शुरुआत कहा से हुई थी।  इंडिया में यह कब और कैसे आया इसके बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त करने वाले है। चलिए आगे बढ़ते है।

MBA का इतिहास क्या है ?

अगर हम MBA का इतिहास देखे तो हम पाते है, कि इसका सबसे पहले प्रयोग अमेरिका ने किया था। इसकी शुरुआत भारत मे बहुत बाद में हुई। उस समय जब औद्योगिकीरण का विस्तार हुआ तो बड़ी बडी Companies को एक बेहतर Management की जरूरत जान पड़ी। जिससे वह अपना व्यवसाय प्रभावशाली रूप से संचालित कर सके। लोगो ने Scientific Management  को विशेष महत्व देते हुये अपने व्यवसाय को गतिमान रखने की इच्छा प्रकट की। इसी के परिणामस्वरूप MBA की डिग्री Education व्यवस्था में लोगों की रुचि का विषय बन गई।

MBA का पहला कॉलेज संयुक्त राज्य अमेरिका ने 1881 में बनवाया। इसके पहले स्कूल का नाम The Wharton School था। समय के साथ साथ दूसरे देशों ने भी इस प्रकार के ज्ञान की कमी महसूस की। जिसके चलते यह डिग्री जल्द ही दुनिया भर के Education System में अपनी जगह बनाने में सफल हुई। जब भारत की शिक्षा प्रणाली में यह degree नही थी, तब लोग MBA करने अमेरिका जाते थे , जिसके लिए बहुत सारा धन एवं समय का व्यय होता था। उसके बाद जब MBA ने भारत मे स्थान प्राप्त किया तो वर्तमान में इसके लिए देश मे एक से बढ़कर एक कॉलेज तथा यूनिवर्सिटी है।

किस field में MBA किया जा सकता है –

जितने भी student MBA करना चाहते है, सबकी रुचि अलग अलग विषय मे हो सकती है। इस डिग्री की यह भी एक खास बात है कि, यह candidate को अपनी रुचि तथा ज्ञान के अनुसार क्षेत्र चुनने का अवसर देती है। जिससे candidate अपनी पसंद का विषय चुनकर यह डिग्री हासिल कर सकता है। MBA वैसे तो कई सारे क्षेत्रों से होता है, जिनमे से निम्न कुछ मुख्य है। जिन में से कोई भी एक क्षेत्र में student अपना MBA पूरा कर सकता है।

क्र क्षेत्र के अंग्रेजी नाम क्षेत्र के हिंदी नाम
1. Finance वित्त
2. Marketing विपणन
3. Accounting लेखांकन
4. Human resources मानव संसाधन
5. Business communication व्यावसायिक संचार
6. Business law व्यवसाय कानून
7. Managerial economics प्रबंधकीय अर्थशास्त्र
8. International Management अंर्तराष्ट्रीय प्रबंधन
9. Entrepreneurship उद्यमिता
10 Marketing and operations विपणन और संचालन

इनके अलावा और भी अन्य विषय होते है जिनसे  MBA किया जाता है। लेकिन उक्त क्षेत्रों का प्रचलन वर्तमान समय मे ज्यादा है। candidate अपनी पसन्द के अनुसार किसी भी क्षेत्र में यह डिग्री प्राप्त करके रोजगार प्रदान कर सकता है।

MBA course में admission लेने के लिए eligibility क्या है –

हमारे देश मे किसी भी कोर्स या डिग्री को करने के लिए कुछ योग्यताओ का होना आवश्यक माना जाता है। यह बस इस बात की सत्यता को दर्शाने के लिये रखी जाती है कि, वह व्यक्ति विशेष उस particular कार्य के लिये उपयुक्त है अथवा नही। MBA करने के लिए भी ऐसी ही कुछ शर्तो तथा योग्यताओ का candidate में होना आवश्यक है।

1. चूँकि MBA एक Post Graduation degree है, तो इसके लिए आवश्यक है कि, candidate किसी भी मान्यता प्राप्त कॉलेज या यूनिवर्सिटी से Graduate हो। उसका विषय कोई भी हो सकता है। जैसे BBA , B.COM, B.SC, BA आदि। यदि किसी भी candidate का पहले से ही MBA करने का plan हो तो उसके लिए अपना graduation BBA से करना बेहतर माना जाता है।

आजकल 12th के बाद ही आप सीधा MBA कर सकते है। क्योंकि कई कॉलेज आपको यह सुविधा प्रदान करते है। BBA +MBA जो 5 वर्ष में पूरा होता है। इसमें पहले 3 वर्ष आपको Bachelor की डिग्री करनी पड़ती है। उसके बाद 2 वर्ष का MBA होता है।

2. Graduation में candidate के न्यूनतम 50% marks होना आवश्यक है। जबकि SC/ST वर्ग के लोगो के लिए 45% होना जरूरी है। तब जाकर आप इस डिग्री के लिए काबिल होते है।

3. MBA करने के लिऐ उम्र की कोई सीमा तय नही है। कोई भी candidate अपने graduation के बाद कभी भी इस डिग्री के लिए apply कर सकता है।

किस entrance exam द्वारा MBA में admission लिया जा सकता है –

MBA में प्रवेश पाने के लिए candidate को MBA के लिए होने वाले Entrance Examination को pass करना पड़ता है। जो बहुप्रतिष्ठित यूनिवर्सिटी व कॉलेज होते है, उनके लिए आपको CAT की परीक्षा पास करनी होती है। इसके अलावा और भी अन्य परीक्षाये होती है, जिनको pass करके आप अच्छे कॉलेज या यूनिवर्सिटी में प्रवेश पा सकते है। प्रवेश पाने के लिए कुछ परीक्षाये निम्न है –

  1. Common Admission Test (CAT)
  2. Common Entrance Test (CET)
  3. Xavier Aptitude Test (XAT)
  4. Management Aptitude Test (MAT)
  5. Common Management Admission Test (CMAT)
  6. ICFAI Business Studies Aptitude Test (IBSAT)
  7. Symbiosis National Aptitude Test (SNAP)
  8. Indian Institute of Foreign Trade (IIFT)
  9. AIMS Test For Management Admissions (ATMA)

इन Entrance exam में merit में आने वाले स्टूडेंट्स को अच्छे कॉलेज में प्रवेश मिलता है। कुछ private college ऐसे भी होते है, जो इस डिग्री के लिए सीधा प्रवेश भी देते है। परंतु IIM जैसी बहुप्रतिष्ठित संस्थाओं में प्रवेश पाने की लिए आपको CAT जैसे कड़े Entrance  से गुजरना पड़ता है।

Best MBA colleges in India list in hindi

आप MBA किस कॉलेज या यूनिवर्सिटी से करते है, इसका प्रभाव आपकी job तथा आपकी सैलरी पर होता है। इसलिए बेहतर यह होता है कि, आप इस डिग्री को एक प्रतिष्ठित और अच्छे कॉलेज से करे। भारत मे MBA के लिए IIM (Indian Institute of Management ) को सबसे बेहतर माना जाता है। यहाँ पर शिक्षा, शिक्षक तथा अन्य सुविधाये बेहतर दर्ज़े के होते है। यहाँ से MBA करने से आपको Campus Selection तथा बेहतर  Placement मिलने के आसार ज्यादा रहते है। इनके अलावा और भी अन्य अच्छे कॉलेज हमारे देश मे है। जिनमे से कुछ की सूची निम्न है-

क्र. संस्था के नाम शहर
1. Indian Institute Of Management Ahmadabad
2. Indian Institute Of Management Bangalore
3. Indian Institute Of Management Calcutta
4. Indian Institute Of Management Lucknow
5. Indian Institute Of Management Indore
6. Xlri Xavier School Of Management Jamshedpur
7. Faculty Of Management Studies (Fms) Delhi
8. Indian Institute Of Management Kozhikode
9. S P Jain Institute Of Management & Research, Mumbai
10. Management Development Institute Gurgaon
11. National Institute Of Industrial Engineering Mumbai
12. Symbiosis Institute Of Business Management Pune
13. International Management Institute Delhi
14. Institute Of Management Technology Ghaziabad
15. Indian Institute Of Foreign Trade Delhi
16. Indian Institute Of Management Shillong
17. Indian Institute Of Management Tiruchirapplli
18. Narsee Monjee Institute Of Management Studies Mumbai
19. Indian Institute Of Management Udaipur
20. Indian Institute Of Management Kashipur
21. Indian Institute Of Management Raipur
22. Shailesh J Mehta School Of Management Mumbai
23.Xavier Institute Of Management Bhubneshwar
24. Indian Institute Of Management Ranchi

MBA में fees कितनी लगती है –

MBA के लिये Fees चूँकि MBA डिग्री को जब लोग इतना महत्व देते है तो लोगो के मन मे यह धारणा बन जाती है कि यह डिग्री बहुत महंगी होगी। MBA की वैसे तो कोई निश्चित fees नही होती। इनकी fees इस पर निर्भर करती है कि, आप किस संस्थान से यह डिग्री प्राप्त कर रहे है। इसलिए हम कह सकते है कि, उसकी fees संस्थान तय करता है। अगर सामान्य आंकड़ों को देखा जाए तो हम पाते है कि , इसमे 2 से 3 लाख रुपये तक का खर्चा आता है। जबकि कई संस्थान ऐसे भी है जिनमें यह व्यय 8 से 10 लाख तक का होता है। Fee की सही जानकारी इस संस्थान से ही मिल सकती है जहाँ से आप MBA करना चाहते है।

Jobs after MBA

लोगो के मन मे यह सवाल हमेशा बना रहता है कि, CAT जैसी कठिन परीक्षा पास करके फिर कड़ी मेहनत से MBA करने के बाद उनको Job क्या मिलेगी। वह कौन से क्षेत्र में जाकर अपना रोजगार पा सकते है। MBA का क्षेत्र सीमित नही रहा है। यह डिग्री करने के बाद आप विभिन्न क्षेत्रों में जाकर अपनी सेवाएं दे सकते है एवं उच्च वेतन प्राप्त कर सकते है। MBA करने के बाद आपको Manager Post  आसानी से मिल सकती है, उसके अलावा आप कई सारे अन्य पदों को हासिल कर सकते है। MBA के बाद आपके Job Option निम्न में से हो सकते है-

  1. Operations Manager
  2. Senior Business Analyst
  3. Human Resource Generalist
  4. Marketing Manager
  5. Business Development Manager
  6. Human Resources Manager
  7. Business Development Executive
  8. Project Manager (IT)
  9. Assistant human Resources Manager
  10. Marketing Executive
  11. Business Analyst (IT)
  12. Area Sales Manager
  13. Senior Sales Executive
  14. Executive Assistant
  15. Financial Analyst
  16. Regional Sales Manager
  17. Finance Manager
  18. Account Manager
  19. Management Consultant

Salary after MBA

किसी भी डिग्री को करने का उद्देश्य  रोजगार प्राप्त करना  होता है। MBA करने के बाद जब लोगो के पास Job opportunity होती है। जिस प्रकार MBA करने के लिए fee सबकी अलग अलग होती है। वेतन भी इसका कुछ इसी प्रकार होता है। आपका वेतन आपकी जॉब post पर निर्भर करता है। आपकी post जितनी ऊँची होगी वेतन का ढांचा भी उतना ही बड़ा होगा। सामान्य तौर पर MBA करने के बाद मिलने वाली jobs का वेतन 30,000 से लेकर 5 लाख तक प्रति  महीने होता है। इसके बाद आपका वेतन आपके Job package पर निर्भर करता है।

दोस्तों। आपको यह आर्टिकल MBA full form क्या है में दी गई जानकारी पसंद आया या नहीं ? यह हमें कमेंट के माध्यम से जरूर बताएं और अगर आप की इस आर्टिकल MBA ka full form से related कोई भी प्रश्न है तो आप हमें कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं हम आपके सभी जवाब प्रश्नों के जवाब देने के लिए उपलब्ध है। धन्यवाद !

4 Comments

  1. Nitesh vasudev July 19, 2019
    • Arvind Patel July 19, 2019
  2. Neeraj patel July 30, 2019
    • Arvind Patel July 31, 2019

Leave a Reply