मध्यप्रदेश में कितने जिले है वर्तमान 2019 में Number of Districts In MP

मध्यप्रदेश में कितने जिले है (how many district in madhya pradesh) इस लेख के माध्यम से हम यह जानकारी प्राप्त करेंगे पर इससे पहले हम यह बता दें कि हमारा लक्ष्य हमारे सभी पाठकों तक सही और सटीक जानकारी पहुंचाना है। आज हम हमारी इस लोकप्रिय वेबसाइट पर मध्य प्रदेश में कुल कितने जिले हैं ? (how many districts are in madhya Pradesh) इस प्रश्न का उत्तर देंगे एवं हम इस पोस्ट Madhya pradesh me kitne jile hai ? के साथ साथ आपको मध्य प्रदेश के सभी जिलों के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान करेंगे। तो आइए जानते हैं मध्य प्रदेश जिलों की संख्या कितनी है।

इस प्रश्न का उत्तर जानने से पहले हम आपको बता दें कि हम पिछले article में मध्यप्रदेश का सामान्य ज्ञान (Mp Gk in hindi) से संबंधित आर्टिकल share कर चुके है अगर आप MP Gk से संबंधित जानकारी चाहते है तो उस आर्टिकल को read जरूर करें।

madhya pradesh me kitne jile hai

मध्य प्रदेश को अक्सर “भारत का हृदय” कहा जाता है। मध्य प्रदेश भारत देश के भूभाग के केंद्र में स्थित है। राजस्थान के बाद यह भारत का दूसरा सबसे बड़ा राज्य है जिसका कुल क्षेत्रफल 3,08,252 वर्ग किलोमीटर है। मध्य प्रदेश, भारत का पहला ऐसा राज्य है जिसने सर्वप्रथम एक Department of Happiness नाम के नए विभाग की शुरुआत की थी जो नागरिकों को एक प्रसन्न और आनंदमय जीवन जीने के लिए वातावरण बनाने में लगा हुआ है। लेकिन 2011 की जनगणना के अनुसार मध्य प्रदेश में कितने जिले हैं? मध्य प्रदेश में 2001 की जनगणना में कितने जिले मौजूद थे? मध्य प्रदेश के जिलों की साक्षारत कितनी है? इन सब प्रश्नो के जवाब के साथ-साथ आइए जानते हैं मध्य प्रदेश के जिलों से संबन्धित पूरी जानकारी।

हम अपने पाठकों को बता दें कि इस लेख में दी हुईं सारी जानकारियाँ सही और प्रमाणित हैं। अन्य जगहों पर दी हुई गलत और अधूरी जानकारियों को पढ़कर पाठकगण एवं छात्र भ्रमित न हों। सारी जानकारियाँ 2011 जनगणना एवं 2019 तक के नवीनतम घटनाचक्र को ध्यान में रखकर ही दी गईं हैं।

मध्य प्रदेश में कितने जिले है – how many district in madhya pradesh

मध्य प्रदेश में कितने जिले हैं वर्तमान 2019 में मध्य प्रदेश में 52 जिले हैं। मध्य प्रदेश के 52 जिलों को 10 संभागों में बांटा गया है। लेकिन 2011 की जनगणना में मध्य प्रदेश में केवल 50 जिले थे जिनमें जनगणना का कार्य किया गया था। मध्य प्रदेश में वर्तमान में तहसीलों की कुल संख्या 341 है। मध्य प्रदेश में वर्तमान में तहसीलों की कुल संख्या 341 है।

मध्यप्रदेश के जिलों की सूची – list of madhya pradesh districts

क्र. जिलों के नाम क्षेत्रफल (वर्ग कि. मी.) जनसंख्या 2011
1. अनूपपुर 3747 7,49,237
2. आगर मालवा 2785 4,80,000
3. अलीराजपुर 3182 7,28,999
4. अशोकनगर 4674 8,45,071
5. इंदौर 3898  12,41,350
6. उज्जैन 6091 6,44,758 
7. उमरिया 4062 14,58,875
8. कटनी 4947 10,25,048
9. खरगौन 801010,54,905
10. खंडवा 734912,92,042
11. गुना 648513,10,061
12. ग्वालियर 546512,41,519
13. छत्तरपुर 868717,62,375
14. छिंदवाड़ा 11815 20,90,922
15. जबलपुर 5210  32,76,697 
16. झाबुआ 6782 24,63,289
17. टीकमगढ़ 5055 19,86,864
18. सतना 7502 13,11,332
19. दतिया 2694 7,86,754
20. दमोह 7306 12,64,219
21. देवास 7020 15,63,715
22. धार 8153  21,85,793
23. नरसिंहपुर 5133 8,26,067
24. नीमच 4267 10,16,520
25. पन्ना 7135 13,31,597
26. बड़वानी 5432 13,85,881
27. बालाघाट 9229 17,01,698
28. बुरहानपुर 3427 7,57,847
29. भिंड 4459 17,03,005
30. भोपाल 2772 23,71,061
31 मंडला 5805 13,40,411
32. मंदसौर 5530 19,65,970
33. मुरैना 4991 10,91,854
34. डिंडौरी 7427 7,04,524
35. रतलाम 4861 23,65,106
36. रीवा 6314 23,78,458
37. राजगढ़ 6143 14,55,069
38. रायसेन 8466 15,45,814
39. विदिशा 7362 18,73,046
40. सागर 10252 22,28,935
41. सिवनी 8758 10,66,063
42. सीधी 1052 11,78,273
43. सीहोर 6578 13,79,131
44. शहडोल 6205  15,12,681
45. शिवपुरी 10290  11,27,033
46. श्योपुर 6585 17,26,050
47. शाजापुर 6196 6,87,861
48. सिंगरौली 5672 14,45,166
49. हरदा 3339 20,32,036
50. होशंगाबाद 6698 5,70,465
51. बैतूल10,043 15,75,362
52. निवाड़ी1318– –

मध्य प्रदेश के कौन से जिले 2011 की जनगणना में शामिल नहीं थे?

आगर मालवा और निवाड़ी (इनका निर्माण/गठन 2011 के बाद हुआ है)

मध्य प्रदेश में जिले, संभाग, तहसील और गाँव इत्यादि –    

2011 की जनगणना के समय मध्य प्रदेश 10 संभागों, 50 जिलों, 342 उप-जिलों, 476 शहरों, 112 जनगणना शहरों, 363 संवैधानिक शहरों, तथा 54,903 गाँवों में प्रशासनिक रूप से बांटा गया था।

मध्यप्रदेश का क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बड़ा जिला कौन सा है?    

क्षेत्रफल की दृष्टि से मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा जिला छिंदवाड़ा है जिसका कुल क्षेत्रफल 11,815 वर्ग किलोमीटर है जोकि मध्य प्रदेश के कुल क्षेत्रफल का 3.85% है। ( क्या आप जानते हैं कि छिंदवाड़ा जिले का नाम इस जिले में पाए जाने वाले एक स्थानीय पेड़ “छिंद” के नाम पर पड़ा है)

मध्यप्रदेश का सबसे छोटा जिला कौन सा है

2011 की जनगणना के अनुसार क्षेत्रफल की दृष्टि से मध्य प्रदेश का सबसे छोटा जिला भोपाल है जिसका कुल क्षेत्रफल 2772 वर्ग किलोमीटर है। भोपाल जिले का क्षेत्रफल मध्य प्रदेश के कुल क्षेत्रफल का केवल 0.9% है। इसके बाद आगर मालवा और फिर दतिया का स्थान आता है।

नोट :– दूसरी वैबसाइटों पर क्षेत्रफल की दृष्टि से मध्य प्रदेश का सबसे छोटा जिला दतिया दिया गया है जो कि गलत है। क्योंकि दतिया का क्षेत्रफल 2902 वर्ग किलोमीटर है जबकि भोपाल का क्षेत्रफल उससे भी कम केवल 2772 वर्ग किलोमीटर ही है। आगर मालवा जिले का क्षेत्रफल 2785 वर्ग किलोमीटर है।

मध्य प्रदेश का सबसे नया जिला कौन सा है ?                  

मध्यप्रदेश General Knowledge के हिसाब से हमे यह भी पता होना आवश्यक है कि इस राज्य का सबसे नया जिला निवाड़ी है जिसे टीकमगढ़ से अलग करके बनाया गया है। यह जिला मध्य प्रदेश के बुंदेलखंड क्षेत्र में स्थित है। निवाड़ी जिले में वर्तमान टीकमगढ़ जिले के तीन तहसीलों निवाड़ी, ओरछा और पृथ्वीपुर शामिल की गईं हैं। इस जिले का निर्माण October 2018 में किया गया था। निवाड़ी जिला उत्तर प्रदेश के साथ लगी सीमा पर मौजूद है।

मध्य प्रदेश के जिलों की जनसंख्या संबंधी आंकड़े

2011 की जनगणना के अनुसार 1 मार्च 2011 को मध्य प्रदेश की जनसंख्या 72,626,809 थी जो भारत की कुल जनसंख्या का 6.00 प्रतिशत है। इसमें ग्रामीण जनसंख्या 52,557,404 तथा शहरी जनसंख्या 20,069,405 है। मध्य प्रदेश की 72.4 प्रतिशत जनसंख्या ग्रामीण है जबकि 27.6 प्रतिशत जनसंख्या शहरों में निवास करती है। मध्य प्रदेश की जनसंख्या में 2001 से लेकर के 2011 के दशक में 12.3 मिलियन की कुल वृद्धि में से ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों का योगदान क्रमशः 8.2 मिलियन और 4.1 मिलियन है।

मध्य प्रदेश के रीवा जिले में ग्रामीण आबादी का सबसे बड़ा हिस्सा 1.97 मिलियन (राज्य की ग्रामीण आबादी का 3.7%) है जिसके बाद धार (3.4%) और सतना (3.3%) है जबकि इंदौर में सबसे ज्यादा शहरी आबादी 2.4 मिलियन (12.1%) निवास करती है। इंदौर के बाद सबसे ज्यादा शहरी आबादी वाले जिले भोपाल (9.6%) और जबलपुर (7.2%) हैं।

मध्य प्रदेश का सबसे अधिक जनसंख्या वाला जिला कौन सा है?

मध्य प्रदेश का सबसे अधिक जनसंख्या वाला जिला इंदौर है जिसकी 2011 जनगणना के अनुसार जनसंख्या 3,276,697 है।

  1. जनसंख्या घनत्व                                                                   

प्रति वर्ग किलोमीटर में निवास करने वाले लोगों की संखा को जनसंख्या घनत्व कहा जाता है। इसे किसी भी क्षेत्र के कुल क्षेत्रफल को उसकी कुल जनसंख्या से भाग देने पर प्राप्त किया जाता है। 2011 की जनगणना में मध्यप्रदेश की जनसंख्या का घनत्व 236 प्राप्त किया गया था जो जनगणना 2001 के 196 के आंकड़े से 40 अंकों की वृद्धि दर्शाता है। मध्य प्रदेश का सबसे अधिक जनसंख्या घनत्व वाला जिला भोपाल (855) है। भोपाल के बाद इंदौर (841) और जबलपुर (473) सबसे अधिक जनसंख्या घनत्व वाले जिले हैं। मध्य प्रदेश के जिलों में न्यूनतम जनसंख्या घनत्व डिंडोरी जिले में 94 है जिसके बाद श्योपुर (104) और पन्ना (142) का स्थान है।

  1. जनसंख्या वृद्धि दर                                                                             

मध्य प्रदेश का जनसंख्या वृद्धि-दर (2001-2011 के दशक में) 20.3 प्रतिशत था। मध्य प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में जनसंख्या वृद्धि दर 18.4 % तथा शहरी क्षेत्रों में 25.7% रेकॉर्ड की गयी थी।

मध्य प्रदेश के जिलों का लिंगानुपात-Sex Ratio

किसी स्थान में प्रति हज़ार पुरुषों पर महिलाओं की संख्या को लिंगानुपात (Sex-Ratio) कहते हैं।

  • 2011 की जनगणना के अनुसार मध्य प्रदेश का लिंगानुपात 931 था। 2001 की जनगणना के अनुसार मध्य प्रदेश में लिंगानुपात 919 था।
  • मध्य प्रदेश का सबसे अधिक लिंगानुपात (Sex Ratio) वाला जिला बालाघाट है जिसका कुल लिंगानुपात 1021 रेकॉर्ड किया गया।
  • ग्रामीण इलाकों में सबसे अधिक लिंगानुपात बालाघाट में 1024 रेकॉर्ड किया गया। बालाघाट में ही सबसे अधिक शहरी लिंगानुपात भी (1000) रेकॉर्ड किया गया था।
  • मध्य प्रदेश के बालाघाट जिले में ही 2001 में सबसे अधिक कुल लिंगानुपात पाया गया था। इसके अतिरिक्त इसी जिले में ग्रामीण और नगरीय क्षेत्रों में भी सबसे अधिक Sex Ratio रेकॉर्ड किया गया था।
  • मध्य प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में न्यूनतम लिंगानुपात भिंड जिले में 828 रेकॉर्ड किया गया था।
  • मध्य प्रदेश के शहरी क्षेत्रों में सबसे कम लिंगानुपात मुरैना जिले में 858 थी।

2001 से 2011 के दशक के बीच मध्य प्रदेश के लिंगानुपात में 12 अंकों की बढ़ोत्तरी हुई है। मध्य प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में यह अनुपात 2001 में 927 से 9 अंक बढ़कर 2011 में 936 तक पहुँच गया था। जबकि शहरी क्षेत्रों में मध्य प्रदेश के लिंगानुपात में सीधे 20 अंकों की बढ़ोत्तरी हुई। शहरी क्षेत्रों में यह अनुपात 2001 में जहां 898 था वहीं 2011 में यह 918 पहुँच गया था। यदि भारत के लिंगानुपात की बात करें तो 2001 में यह 933 था जो 2011 में 10 अंक बढ़कर 943 हो गया था। भारत की 2011 की जनगणना में केरल में सबसे अधिक Sex Ratio 1084 दर्ज की गयी।

अभी आपने पढ़ा मध्य प्रदेश में कितने जिले हैं ? ( how many districts are in madhya Pradesh ? ) इस प्रश्न का उत्तर और इसी के साथ जाना मध्य प्रदेश के बारे में भी। दोस्तों अगर आपको हमारी यह post पसंद आई होगी तो हमें comment section में comment करके जरूर बताइएगा एवं यदि आप मध्य प्रदेश से जुड़ी कोई और जानकारी जानना चाहते हैं तो भी आप हमें comment कर सकते हैं और भी ऐसे कई रोचक प्रश्न के उत्तर जानने के लिए हमारी इस website से जुड़े रहें। धन्यवाद !

मध्यप्रदेश से related यह लेख भी जरूर पढ़े –

12 Comments

  1. Santosh kohare July 28, 2018
    • Arvind Patel July 30, 2018
  2. Aniket umrele October 3, 2018
    • Arvind Patel October 4, 2018
  3. Aps dau October 29, 2018
  4. Sharad Vishkarma November 29, 2018
  5. Peaveen February 6, 2019
    • Arvind Patel February 6, 2019
  6. Prakash chaturvedi samrat February 24, 2019
    • Arvind Patel February 25, 2019
  7. Shivanya Pandey May 15, 2019
    • Arvind Patel May 15, 2019

Leave a Reply