म्यांमार (बर्मा) देश कब आजाद या स्वतंत्र हुआ था।

अगर आप इस question का answer ढूंढ रहे हैं कि बर्मा देश कब आजाद हुआ था (when was Myanmar independent) तो आप इस लेख को पूरा जरूर पढ़ें क्योंकि आज के इस लेख में हम इस विषय पर की वर्मा कब आजाद हुआ था। इसके बारे में आपको जानकारी देंगे और साथ में ही बर्मा देश से संबंधित सामान्य जानकारी भी प्राप्त करेंगे जो कि gk की दृष्टि से बहुत ही महत्वपूर्ण हो सकती है। आइए जानते हैं।

myanmar kab aajad huaa tha

बर्मा देश कब आजाद हुआ

बर्मा देश को आजादी 4 जनवरी 1948 को प्राप्त हुई थी परंतु हम आपके यहां पर बताना चाहते हैं कि बर्मा को “म्यांमार” के नाम से भी जाना जाता है। आधुनिक समय में से अधिकतर लोग इस देश को म्यांमार के नाम से ही जानते हैं इसलिए जब भी आप से बर्मा देश कब आजाद हुआ इसके बारे में पूछा जाए तो आप confuse ना हो और इसे याद रखें कि म्यांमार ही वर्मा देश है।

बर्मा देश के बारे में सामान्य जानकारी

वर्मा, भारत का एक पड़ोसी देश है जो कि भारत के पूर्व छोर पर बसा हुआ है। यह देश क्षेत्रफल की दृष्टि से दुनिया का 39 वॉ सबसे बड़ा देश है जो कि लगभग 676,578 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है और अगर हम जनसंख्या के आधार पर बात करें तो यह दुनिया का 25 वॉ सबसे बड़ा राष्ट्र है जहां पर 2017 के आंकड़ों के अनुसार लगभग 5.5 करोड़ लोग निवास करते हैं।

इस देश की राजधानी “नाएप्यीडॉ” है और अगर हम यहां के सबसे बड़े शहर की बात करें तो यहां का सबसे बड़ा शहर रंगून है। रंगून शहर को यांगून नाम से भी जाना जाता है बर्मा देश में वर्मी (बुर्मेसी) भाषा को ऑफिशियल लैंग्वेज का दर्जा दिया गया है।

Read also :-

Leave a Reply