नगालैंड का राज्यपाल कौन है ? Who Is The Governor Of Nagaland

नागालैंड भारत के पूर्वोत्तर में बसा एक राज्य है जिसकी सीमाएं म्यांमार से लगती हैं। नागालैंड के वर्तमान राज्यपाल श्री पद्मनाभ बालकृष्ण आचार्य (Padmanabha Balakrishna Acharya – P.B. Acharya) हैं जो भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ राजनेता रह चुके हैं। नागालैंड के राज्यपाल के रूप में उनकी नियुक्ति भारतीय जनता पार्टी की केंद्र में सरकार बनाने के बाद हुई है। श्री पी० बी० आचार्य मूल रूप से Karnataka (कर्नाटक) के रहने वाले हैं जो अब मुंबई में बस चुके हैं। नागालैंड के राज्यपाल के रूप में उन्होने 14 जुलाई 2014 को शपथ ली थी।

nagaland ke rajyapal koun hai

श्री पी० बी० आचार्य नागालैंड के राज्यपाल होने के साथ-साथ 21 जुलाई 2014 से कुछ समय तक त्रिपुरा के राज्यपाल का अतिरिक्त कार्यभार भी देख चुके हैं। किन्तु अब त्रिपुरा के नए राज्यपाल कप्तान सिंह सोलंकी हैं।

पद्मनाभा आचार्य के बारे में सामान्य जानकारी –

श्री पद्मनाभ बालकृष्ण आचार्य (P. B. Acharya), स्वर्गीय श्री बालकृष्ण और राधा के पुत्र हैं। नागालैंड के गवर्नर श्री पी० बी० आचार्य का जन्म 8 अक्टूबर 1931 को कर्नाटक राज्य के उडुपी में हुआ था। पी० बी० आचार्य जी की प्रारम्भिक शिक्षा कर्नाटक के उडुपी के क्रिश्चियन हाई स्कूल से हुई थी जहां से उन्होने मैट्रिकुलेशन पास की थी। इसके अलावा वे 1949-51 के दौरान Mahatma Gandhi Memorial College (महात्मा गांधी मेमोरियल कॉलेज), उडुपी के पहले बैच के छात्र थे।

श्री पी० बी० आचार्य  ने University of Mumbai (मुंबई विश्वविद्यालय) से अपनी स्नातक की शिक्षा पूरी की है जहां से उन्होने बीए (ऑनर्स), बी.कॉम और एल.एल.बी. की डिग्रीयां हासिल की हैं। नागालैंड के राज्यपाल श्री पी० बी० आचार्य 1951 से 1977 तक अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) के कार्यकर्ता के रूप में कार्य कर चुके हैं। 1969 में वे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) के All India President भी रह चुके हैं। 1977 में आपातकाल के दौरान  एक सक्रिय राजनीतिक भूमिका निभाने वाले पी० बी० आचार्य, 1980 में, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सदस्य बने। P.B. Acharya राजनीतिक सक्रियता के अलावा कई गैर सरकारी संस्थानों और ट्रस्ट से भी जुड़ कर समाज सेवा का कार्य कर चुके हैं। नागालैंड के राज्यपाल श्रीआचार्य ने व्यापक रूप से यात्राएँ की हैं जिनमें USA, Canada, यूरोप, मैक्सिको, चीन, सिंगापुर, थायलैंड और मलेशिया जैसे देश शामिल हैं। भारत के पूर्वोत्तर राज्यों का उनके पास बहुत अनुभव है जहां उन्होने कई बार अरुणाचल प्रदेश, असम, Manipur (मणिपुर), मेघालय, नागालैंड, सिक्किम और त्रिपुरा राज्यों का दौरा किया है।

श्री P. B. Acharya का विवाह श्रीमती कविता आचार्य से हुआ है। श्री आचार्य जी को तीन बेटे और एक बेटी हैं।

Leave a Reply