ODI का Full form क्या होता है ?

क्रिकेट का जुनून लोगों के सिर चढ़ कर बोलता है। बहुत सारे देशों में क्रिकेट की लोकप्रियता देखते ही बनती है। भारत जैसे देश मे इस खेल को एक धर्म की तरह माना जाता है, जिसके लिये लोगो का जज्बा, समर्थन तथा लगाव एक अलग स्तर पर है। ODI के Full form का संबंध भी इसी खेल से जुड़ा है। जितने भी व्यक्ति उस खेल को समझते है, इसको खेलते है या इसमें अपनी रुचि रखते है, वह इसके Fullform से अवगत होंगे। परन्तु ऐसे भी लोगो की संख्या में कमी नही है, जो केवल इसे ODI के नाम से समझते है एवं इसके बारे में विस्तार से जानकारी नही रखते है।

odi ka full form kya hai

इस आर्टिकल में हम इसके बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे तथा जानेगे कि यह होता क्या है ? इसके अलावा इससे संबंधित सभी विषयों को समझेंगे।

Full form Of ODI

ODI यह Abbreviation क्रिकेट खेल से जुड़ा है। जिसका Fullform “One Day International” होता है। इसको हिंदी में “एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय” कहा जाता है। यह क्रिकेट के कुल 3 प्रारूपों (Formet) में से एक है। जिसे एक दिन में खेला जाता है। इसके अलावा इसको टी -20 के साथ “सीमित ओवर” का क्रिकेट भी कहा जाता है, क्योकि खेल के इन प्रारूप में ओवर सीमित (Limited) होते है। ODI में एक पारी में कुल 50 ओवर होते है, जबकि ट्वेंटी ट्वेंटी में एक पारी में कुल 20 ही ओवर फेंके जाते है। इस खेल का सबसे बड़ा एवं सबसे पुराना  प्रारूप टेस्ट क्रिकेट है, जो 5 दिनो तक खेला जाता है। जिसमें प्रतिदिन 90 ओवर फेंके जाते है।

ODI का इतिहास

क्रिकेट का इतिहास बेहद पुराना है। 17वी शताब्दी से इस खेल को खेला जा रहा है। लेकिन 1909 में जब International Cricket Council (ICC) की स्थापना हुई, तब क्रिकेट को एक संरचनात्मक ढांचा मिल गया। इसके बाद क्रिकेट को एक व्यवस्थित तरीके से खेला जाने लगा। टेस्ट क्रिकेट इस खेल का सबसे पुराना प्रारूप है, लेकिन इस खेल को और भी ज्यादा रोचक बनाने के लिये ICC ने इसमें ODI प्रारूप को भी जोड़ा।

ODI क्रिकेट की शुरुआत की कहानी बेहद दिलचस्प है। इतिहास का पहला ODI वास्तव में एक टेस्ट मैच था। यह सुनने में अजीब जरूर लगेगा, परंतु सच्चाई यही है। पहला ODI 5 जनवरी 1971 को इंग्लैंड तथा ऑस्ट्रेलिया के बीच मेलबोर्न क्रिकेट मैदान पर हुआ। यह मैच एक टेस्ट के तौर पर शुरू हुआ था, परन्तु बारिश के कारण जब पहले 3 दिन का खेल न हो सका, तब इसको Official तौर पर रद्द कर दिया तथा इसको एक ODI के तौर पर खेला गया। यह मैच 40 ओवर प्रति पारी का हुआ, जिसके एक ओवर में कुल 8 बॉल होती थी। इस मैच को ऑस्ट्रेलिया ने 5 विकेट से जीता था। भारत ने अपना पहला ODI मैच 13 जुलाई 1974 में इंग्लैंड के खिलाफ लीड्स के मैदान पर खेला था। इस मुकाबले को इंग्लैंड ने 4 विकेट से अपने नाम किया था। यह मैच 55 ओवर प्रति पारी का हुआ था।

ODI के नियम

ODI  प्रारूप के क्रिकेट में जुड़ने से इस खेल को एक नया मंच मिला। रंगीन कपड़ो में क्रिकेट, दूधिया रोशनी में खेल तथा एक ही दिन में मैच का परिणाम मिलना, यह ODI क्रिकेट की कुछ विशेषता थी, जिससे लोगो को क्रिकेट के प्रति पहले से ज्यादा लगाव होने लगा, लोग इसको ज्यादा बेहतर समझने लगे। चूंकि क्रिकेट का इतिहास बेहद पुराना है, तो इसमें समय के साथ साथ बदलाव आते जा रहे है। जिसके कारण ODI के नियमो में भी अंतर आया है। इस खेल के कुछ नियम है, जो वर्तमान समय मे लागू है।

1) वर्तमान समय मे ODI में कुल 50 ओवर (प्रति पारी) में होते है। जिसमे एक ओवर में कुल 6 गेंदे फेंकी जाती है। एक गेंदबाज 10 ओवर से अधिक ओवर नही फेंक सकता।

2) वर्तमान समय मे ODI में कुल 3 Powerplay होते है। पहला पॉवरप्ले 1 से 10 ओवर का होगा, दूसरा 11 से 40 ओवर के बीच, जबकि अंतिम पावरप्ले 41 से 50 ओवर के बीच होता है।

3) पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम के द्वारा बनाये गये कुल रनों से, बाद में बल्लेबाजी करने वाली टीम को मैच जीतने के लिए एक रन अधिक बनाना पड़ता है।

4) एक टीम में केवल 11 ही खिलाड़ी मैच खेल सकते है। यदि मैच के दौरान कोई खिलाड़ी चोटिल होता है, तो इसके स्थान पर Substitute खिलाड़ी को मैदान पर उतारा जा सकता है। ICC के नये नियमो के मुताबिक अगर चोटिल खिलाड़ी के सिर पर चोट है, तो केवल इसी दशा में Substitute खिलाड़ी से बल्लेबाज़ी या गेंदबाजी कराई जा सकती है। दूसरी चोट की दशा में Substitute खिलाड़ी केवल क्षेत्ररक्षण कर सकता है।

5) यदि दोनों टीम अपनी पारी के 50 ओवर में समान रन बना पाती है, तो उसे “टाई” मैच कहा जाता है। इसके बाद दोनों टीम को एक एक ओवर और दिया जाता है, जिसे “सुपर ओवर” कहा जाता है। जिसमे अधिक रन बनाने वाली टीम विजेता होती है। अगर सुपर ओवर में भी दोनों टीमों का स्कोर बराबर होता है, तो ऐसी दशा में जिस टीम की मैच में ज्यादा बाउंड्री(चौके, छक्के) होगी, उसे विजेता घोषित किया जायेगा। विश्वकप 2019 के फाइनल में इंग्लैंड टीम कुछ इसी प्रकार विजेता बनी है।

ODI World Cup

ODI का सबसे बड़ा टूर्नामेंट क्रिकेट विश्वकप होता है। यह प्रत्येक 4 साल में आयोजित किया जाता है। विश्वकप में टीमें ICC के नियमों के अनुरूप शामिल होती है। 1975 से 2019 तक कुल 12 विश्वकप खेले गये है। जिसमें ऑस्ट्रेलिया टीम ने अपनी बादशाहत दिखाते हुये सर्वाधिक 5 बार इसको जीता है। 70 के दशक की सबसे मजबूत टीमों में से एक वेस्टइंडीज टीम ने शुरुआती दो विश्वकप अपने नाम किये है। भारतीय क्रिकेट टीम ने पहला विश्वकप 1983 में कपिल देव की कप्तानी में जीता, जबकि दूसरा वर्ल्डकप जीतने में भारत को 28 वर्ष लग गए।

लंबे इंतजार के बाद 2011 में महेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्व में भारत ने दूसरी बार विश्वकप जीता। इसके अलावा पाकिस्तान, श्रीलंका तथा इंग्लैंड भी अपने नाम इस ट्रॉफी को कर चुके है। अंतिम वर्ल्डकप 2019 में खेला गया था। जिसकी मेजबानी इंग्लैंड एंड वेल्स ने की थी। इसमें इंग्लैंड ने फाइनल में न्यूजीलैंड को बड़े नाटकीय ढंग से हराते हुए विश्वविजेता का खिताब अपने नाम किया।

World cup Winners

1) 1975 – West Indies

2) 1979 – West Indies

3) 1983 – India

4) 1987 – Australia

5) 1992 – Pakistan

6) 1996 – Sri Lanka

7) 1999 – Australia

8) 2003 – Australia

9) 2007 – Australia

10) 2011 – India

11) 2015 – Australia

12) 2019 – England

Follow us on other platforms too. Stay Connected!

1 thought on “ODI का Full form क्या होता है ?”

Leave a Comment