पवनों का देश किसको कहा जाता है।

आज के article में पवनों का देश कौनसा है तथा इसे पवनों का देश क्यों कहा जाता है, की जानकारी आपको देने वाले हैं। अगर आपको लगता है कि आपके मन में इससे सम्बंधित कोई questions हैं, तो आप “पवनों का देश किसे कहते हैं” को पूरा जरूर पढ़ें।

pawno ka desh kise kehte hai

पवनों का देश किस देश को कहते हैं

पवनों का देश डेनमार्क country को कहा जाता है। ये देश उत्तरी यूरोप में स्थित है। इसकी सीमा स्वीडन से मिलती है। ये country हजारों द्वीपों से मिलकर बनी है। जूटलैंड प्रायद्वीप से ये country सम्बंधित है। डेनिश खाड़ी इसी से सम्बंधित है। इस देश का आकार छोटा है। इस देश की राजधानी कॉपनहेगन है। यहां के नागरिक डेनिश कहे जाते हैं। यहां की मुद्रा डेनिश क्रोन है।

डेनमार्क को पवनों का देश क्यों कहते हैं

पवनों का देश जिस देश को कहा जाता है, उसका नाम डेनमार्क है। ये तो आपको पता चल गया होगा। लेकिन इसे पवनों का देश क्यों कहा जाता है, ये आपको मालूम नहीं होगा। इस country को पवनों का देश इसलिए कहा जाता है, क्योंकि यहां पर बड़े-बड़े रेत के टीलें हैं। जिनकी वजह से यहां पर तेज हवाएं चलती है और तूफान आते रहते हैं। यही कारण है कि इसे पवनों का देश कहा जाता है। यही नहीं इस country में बहुत सारे छोटे-बड़े द्वीप भी हैं, जिसके कारण यहां तेज हवाएं चलती है। यहां पर आंधी और तूफान आते हैं, जिसकी वजह से ये देश पवनों का देश कहलाता है। इस country में छोटी-छोटी झीलें और नदियां भी है। इसके साथ ही कई कारण है जिसकी वजह से ये देश पवनों का देश कहलाता है। यहां की सबसे ऊंची पहाड़ी 170 मीटर ऊंची है। इतना ही नहीं इस देश की जलवायु समशीतोष्ण है। इसकी जलवायु में भी पवनों का एक अहम रोल होता है। यहां की विशेषता ही तेज हवाओं का चलना है। इसकी इसी विशेषता के कारण ये विश्व विख्यात है और इसके बारे में आपने internet पर देखा ही होगा या पढा ही होगा।

डेनमार्क से जुड़ी विशेष जानकारी

डेनमार्क का relation पवनों से है। ये तो आपने समझ ही लिया है। लेकिन इसके बारे में कुछ जानकारी आपको जान लेनी चाहिए, जो निम्नलिखित है-

  1. यहां पर बोली जाने वाली language का नाम डेनिश है और यहां के नागरिक को डेनिश कहते हैं।
  2. इस Country का क्षेत्रफल 42925 वर्ग कि.मी. है।
  3. यहां की population 57 लाख के करीब है।
  4. ये country low corruption वाले देशों की सूची में शामिल है।
  5. इसका आकार बिल्कुल Flat होने के कारण यहां पवनें भी तेज चलती है। क्योंकि इसका भौगोलिक स्वरूप भी इस बात पर निर्भर करता है।

तो दोस्तों, आज हमने पवनों का देश किस देश को कहा जाता है, ये जाना है। हमने डेनमार्क से जुड़ी विशेष जानकारी आपको दी है और इसमें ये भी बताया है कि डेनमार्क को पवनों का देश क्यों कहा जाता है। अगर आपके भी इस लेख “पवनों का देश किस देश को कहा जाता है” से जुड़े कुछ question हैं, तो हमें comment में बता सकते हैं।

Leave a Reply