Puma किस देश की कंपनी है एवं इसके मालिक कौन है ?

आधुनिक दौर में लोग खरीददारी करते वक़्त, वस्तु की गुणवत्ता पर ज्यादा तवज्जों देते है। जिसके परिणामस्वरूप प्रचलित एवं नये ब्रांडों की मांग, बाजार में अधिक हो गई है। इसका Simple सा Reason यही है कि लोग जानते है, कि उच्च ब्रांडों की वस्तुओं में उच्च स्तर की Quality होती है, जो उनके द्वारा खर्च किये जाने वाले पैसे को जयाज़ बतलाती है। इस Article में हम एक ऐसे ही ब्रांड की बात करेंगे, जो वर्षो से अपने बेहतरीन उत्पादों के लिये पहचाना जाता है। यह ब्रांड है – PUMA, तो चलिये इसके बारे में विस्तार से बात करते है।

puma kis desh ki company hai

किस देश का है PUMA

Puma SE एक German Multinational Corporation है, जिसको Puma ब्रांड के नाम से पहचाना जाता है। इस संगठन की स्थापना 1948 में हुई थी, जिसको Rudolf Dassler ने स्थापित किया था। यह Brand Athletic एवं Casual कपड़ों, Accessories, Sportswear, Sport Equipments तथा Footwear के निर्माण और उनके डिज़ाइन का कार्य करता है। 1986 में इसको Frankfurt Stock Exchange में listed करवा दिया गया था, तब से यह एक Public कंपनी के रूप में कार्य करती है। इसके द्घारा बनाये गये उत्पादो का उपयोग करीबन 120 देशों में होता है।

आपकी जानकारी के लिये बता दे कि, वर्तमान समय में प्यूमा दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा Sportswear Manufacturer है। वर्तमान समय मे इस Corporation का मुख्यालय जर्मनी के Herzogenaurach, Bavaria में स्थित है। इसके उच्च स्तरीय प्रबंधन की देखरेख के लिये, वर्ष 2013 से Former Professional Football Player, Bjørn Gulden इसके CEO पद पर आसीन है। इसके अलावा इस ब्रांड के सभी वित्तीय विभागों की बागडोर Chief Financial Officer के रूप में Michael Lämmermann संभाले हुये है।

Puma की शुरुआत

इस निगम के संस्थापक Rudolf Dassler के पिता Christoph von Wilhelm Dassler एक Shoe Factory में कार्य करते थे। अपने पिता की मदद करने के लिये Rudolf अक्सर उनकी फैक्टरी चले जाते थे। इसके बाद उन्होंने Porcelain Factory में एक Salesman के रूप में Training प्राप्त करी। इसके उपरांत Nuremberg में वह Leather Trading Business से जुड़ गये।

लेकिन इस व्यवसाय की शुरुआत 1924 में शुरू हुई, जब Rudolf ने अपने छोटे भाई Adolf “Adi” Dassler के साथ मिलकर एक Shoe Factory की स्थापना की। इसको उन्होंने Gebrüder Dassler Schuhfabrik का नाम दिया, जिसका अंग्रेजी अनुवाद Dassler Brothers Shoe Factory था। उस दौरान यह एकलौती फैक्टरी थी, जो Sports Shoes का निर्माण करती थी। इन दोनों ने अपना यह Business अपनी माता के Laundry में शुरू किया था, जहाँ उन्हें Electricity की अनियमित Supplies जैसी अनेकों समस्यायों का सामना करना पड़ता था।

इसके बाद 1936 में Summer Olympics हुये, जिसके लिये दोनों भाई, एक Suitcase में Spikes  लेकर बर्लिन पहुँचे। जहाँ उन्होंने United States के धावक Jesse Owens को उन Spikes का उपयोग करने को राजी किया। Owens ने उन जूतों को पहनकर 4 Gold Medals जीते, जिसके बाद उनके व्यापार ने तेज़ी से रफ्तार पकड़ी। इसका असर यह हुआ कि World War II से पहले उनकी सालाना Selling 200,000 जूतों के जोड़े हो गई। इसके उपरांत दोनों भाइयों ने Nazi Party, Join कर ली, जहाँ से उन दोनों के बीच आपसी मसलो को लेकर दरार पड़ने लगी। व्यापार को संचालित करने के लिए उनके विचारों में बढ़ते भेदभाव के कारण 1948 में, दोनों ने व्यापार को बांट लिया।

व्यापार के बंटवारे के बाद दोनों भाइयों ने अपनी अलग अलग Company की शुरुआत करी। Rudolf ने अपने नये फ़र्म का नाम “Ruda” रखा, जो उन्होंने अपने नाम Rudolf के शुरुआती दो Word “Ru” तथा Dassler के “Da” से मिलकर बनाया था। लेकिन इसके कुछ महीनों बाद उन्होंने, इसका नाम बदलकर Puma रख दिया। वही उनके छोटे भाई Adolf ने अपने निकनेम “Adi” का एवं अपने नाम के अंतिम नाम Dassler के शुरुआती तीन word को जोड़कर “Adidas” नाम से कंपनी की शुरुआत करी।

अपने नये व्यवसाय को स्थापित करने के बाद Puma ने सबसे पहले Football Boots का निर्माण किया, जिसको फुटबॉल खिलाड़ियों ने बेहद पसंद किया। इसके बाद उन्होंने स्पोर्ट सामग्री के Manufacture पर ज्यादा ध्यान केंद्रित किया, जिसके परिणामस्वरूप धीरे धीरे यह ब्रांड तरक्की करता गया। आज के समय मे यह ऐसी ऊँचाईयो पर पहुँच गया है, जहाँ यह किसी पहचान का मोहताज नही है।

Puma के मालिक :-

जैसा कि आप सभी जानते है कि, ज्यादातर बड़ी  कंपनियों एवं ब्रांडों के मालिक कोई एकलौता व्यक्ति या समूह नही होता। Puma के संदर्भ में भी ऐसा ही है। इसके शेयर का सबसे बड़ा मालिक Groupe Artémis है, जो इसके Share का 29 फीसदी के मालिक है। Artémis फ्रांस की एक Holding Company है। इस ब्रांड का दूसरा सबसे बड़ा Shareholder “Kering” है। यह भी French-Based Multinational Corporation है। यह निगम इस ब्रांड के 16 फीसदी हिस्से का मालिक है। इसके बाकी शेयर के अन्य कई हिस्सेदार है, लेकिन उनकी हिस्सेदारी बेहद छोटी मात्रा में है।

Arvind Patel

Follow us on other platforms too. Stay Connected!

Leave a Comment