भगवान राम कौन थे उनकी पत्नी और पुत्रों के नाम क्या है

भगवान राम कौन थे ? इस प्रश्न का जवाब इतना सरल नहीं है जितना आपको लगता है । सबसे पहले आपको यह समझना होगा कि कुछ लोग भगवान राम को केवल रामायण ग्रंथ के एक Character के रूप में याद रखते हैं । वहीं कुछ लोगों का इस बात पर पूर्ण विश्वास है कि भगवान राम एक ऐतिहासिक व्यक्ति हैं जिनके अस्तित्व पर कोई सवाल नहीं उठाया जा सकता ।

हम इस Article में किसी भी प्रकार का दावा करने से बचेंगे एवं ग्रंथों में जो भगवान राम के विषय में लिखा है उसी के आधार पर बात करेंगे । भगवान राम को विष्णु का अवतार माना जाता है ।  

ram kaun the

भगवान राम को आम जनता तक पहुंचाने का कार्य दो ग्रंथों ने किया है एक का नाम है रामायण एवं दूसरे का नाम है राम चरित्र मानस । दोनों ही ग्रंथ अपने परिदृश्य में भगवान राम की कहानी बताने का प्रयास करते हैं । आपको यह पता होना चाहिए कि भारत एवं दुनिया में सबसे प्रसिद्ध रामायण वाल्मीकि रामायण है परंतु इसके अलावा भी रामायण के कई version है जो दूसरों के द्वारा लिखे गए हैं ।

इन ग्रंथों के अनुसार भगवान राम  का जन्म अयोध्या में हुआ । जो वर्तमान उत्तर प्रदेश में  आता है । उनके पिता अयोध्या के तत्कालीन शासक दशरथ थे एवं उनकी माता कौशल्या थी ।

राम जी की पत्नी और उनके पुत्रो के नाम क्या है

 भगवान राम की पत्नी का नाम सीता था एवं उनके दो पुत्र थे जिनका नाम लव एवं  कुश था । भगवान राम का जीवन तीन भागों में बांटा जा सकता है । पहला भाग वह है जहां पर वह एक आदर्श पुत्र की तरह रहते हैं एवं इसीलिए उन्हें दशरथ अपना उत्तराधिकारी घोषित करते हैं । दूसरा भाग वह है जहां पर उन्हें अपनी सौतेली मां कैकई के गुस्से का फल भुगतना पड़ता है जिसके कारण उन्हें 14 वर्ष  के वनवास के लिए जाना पड़ता है । इसी वनवास के दौरान उनका साथ देने के लिए लक्ष्मण एवं सीता भी उनके साथ आते हैं।

इसी वनवास के दौरान तत्कालीन श्रीलंका का शासक रावण सीता का हरण कर लेता है जिसके फलस्वरूप राम एवं रावण का भयंकर युद्ध होता है और जिसके पश्चात भगवान राम सीता को लेकर अयोध्या लौट जाते हैं ।

भगवान राम के जीवन का तीसरा भाग वह है जब वह अयोध्या लौटने के बाद एक आदर्श राजा की तरह व्यवहार करते हैं । इसी दौरान सीता परित्याग की घटना भी होती है । यह सारी कहानियां रामायण में विस्तृत तौर पर बताई गई हैं । हम यह जानते हैं कि आप इस बात का  निर्णय करने में पूरी तरह  कुशल है,

आप यह तय कर सकते हैं कि भगवान राम काल्पनिक चरित्र थे या फिर उनके अस्तित्व पर कोई सवाल नहीं उठाया जा सकता । चलिए यह तो बात हुई भगवान राम की। हमारे साथ बने रहिए ऐसी ही अन्य रोचक जानकारियों के लिए ।

Leave a Reply