रूस की सबसे बड़ी कंपनी कौन सी है ?

रूस एक बेहद खूबसूरत देश है, जिसने विगत कुछ सालों में अपनी कार्य प्रणाली में बदलाव करके अपने आप को एक नये मुक़ाम तक पहुँचाया है। देश मे व्याप्त सीमित संसाधनों का अनुकूलतम प्रयोग करके, यह देश आज, दुनिया मे एक बड़ी शक्ति बन कर उभर रहा है। विकास की पटरी पर तेज़ी से भागते इस देश की चर्चा हम इस Article में करेंगे। जैसा कि हमने पहले भी देखा है, कि बड़े उद्योगों का, किसी भी स्थान के विकास में महत्वपूर्ण योगदान रहता है, तो Finders चलिये हम इस देश की सबसे बड़ी कंपनी के बारे में बात करते है।

russia ki sabse badi company

रूस की सबसे बड़ी कंपनी :-

इस देश की सबसे बड़ी कंपनी Gazprom है, जिसका पूरा नाम PJSC Gazprom है। यह एक Multinational Energy Corporation है, जो आंशिक रूप से यहाँ का State-owned निगम है। इसकी स्थापना अगस्त 1989 में हुई थी। यह संगठन Natural Gas, Petroleum, Petrochemical का उत्पादन करता है। जबकि इसके साथ साथ यह Gas Industry के सभी कार्यों से भी जुड़ा हुआ है, जिसमें इसका उत्पादन, परिवहन, वितरण एवं विपणन, Refining तथा Power Generation शामिल है। इस निगम का मुख्यालय वर्तमान समय मे Lakhta Center में है, जो Saint Petersburg में स्थित है।

Gazprom नाम दो रशियन शब्द Gazovaya Promyshlennost से बना है, जिसका अर्थ Gas Industry होता है। यह कंपनी राजस्व के आधार पर इस देश की सबसे बड़ी कंपनी होने के अलावा World की सबसे बड़ी Publicly-listed Natural Gas Company भी है। पिछले कुछ आंकड़ो के अनुसार इसकी अनुमानित Sales US$120 billion से भी अधिक है। अगर Forbes Global 2000 की बात की जाये, जिसने अपना Data 2020 में जारी किया है, तो उसकी सूची में यह दुनिया का 32वी सबसे बडी Public कंपनी है। वर्तमान समय मे Viktor Zubkov इसके Chairman है, जबकि Alexey Miller इससे CEO की भूमिका में जुड़े हुये है।

इस कंपनी का वैश्विक रूप से भी बड़ा महत्व है। वर्ष 2018 में इसने 497.6 billion Cubic Meters से ज्यादा Natural एवं Associated Gas का उत्पादन किया था, जो Global Output का करीबन 12 प्रतिशत भाग होता है। इसकी एक अन्य खास बात यह भी रही है कि, इसने यह आंकड़े प्रति वर्ष बरकरार रखते हुये, उन्हें बेहतर ही किया है।

इस कंपनी की शुरुआती 1989 में उस दौरान हुई थी, जब Soviet Ministry of Gas Industry को एक Corporation में तब्दील किया था। इस प्रकार यह सोवियत यूनियन की पहली State-run Corporate Enterprise बनी। इसके कुछ समय बाद जब  Soviet Union का विघटन (Dissolution) हुआ, तब इसका Privatization कर दिया गया। लेकिन 2000 के शुरुआती सालों में ही इसे Russian Government ने अपने कंट्रोल में ले लिया। जिसके बाद से वह आज भी इसका करीबन 50.23% मालिकाना हक अपने पास रखती है।

Arvind Patel

Follow us on other platforms too. Stay Connected!

Leave a Comment