Sad shayari in Hindi – सैड शायरी इन हिंदी

सजा तो नहीं
पर सजा से कम नहीं
तेरा ना मिल पाना
किसी गुना से कम नहीं

दुआ है मेरी
उस बनाने वाले से
तू भी ना मिले
तेरे चाहने वाले से

है कमियां मुझ में
कहा इनकार करता हूं
इश्क कबूल के तो देख
सारे जहां की खुशियां लाने का ख्वाब रखता हूं

अनजान नहीं हूं मैं
मेरी बद्दुआ से
पर हम भी शामिल हैं
तेरे चाहने वालों मैं

बतलाना हु चाहता
तुझको जिंदगी तेरे बगैर
सजा तो नहीं
पर सजा से कम नहीं

Leave a Reply