उत्तर प्रदेश का जनसंख्या के आधार पर सबसे बड़ा शहर कौन सा है ?

जनसंख्या के आधार पर उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा शहर कानपुर है , जी हां वही ग्रीन पार्क वाला कानपुर। उत्तर प्रदेश का सबसे ज्यादा Population वाला शहर इसकी राजधानी लखनऊ ना होकर कानपुर है, यही नहीं कानपुर उत्तर प्रदेश में area के आधार पर सबसे बड़ा शहर ना होते हुए भी जनसंख्या के आधार पर सबसे बड़ा शहर है।

कानपुर शहर की जनसंख्या (Population)  37,67,348 है। कानपुर शहर के अंदर जनसंख्या घनत्व 9,300 व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर के आसपास है। जनसंख्या के आधार पर यह भारत का 12वां सबसे बड़ा शहर है। अगर कानपुर जिले की बात की जाए तो उसकी जनसंख्या 45,81,268 है। कानपुर को उत्तर प्रदेश का मैनचेस्टर कहा जाता है और इसे मैनचेस्टर नाम दिये जाने के पीछे यहां पर बड़ी संख्या में उपलब्ध फैक्ट्रियों का होना है ।

uttar pradesh ka jansankhya me sabse bada shahar

ऐसा माना जाता है कि इस शहर का नाम राजा खान देव पर पड़ा। इतिहास के विषय में हम आगे बात करेंगे। इस शहर की मेयर प्रमिला पांडे हैं जो कि भारतीय जनता पार्टी से आती है।

इतिहास के परिदृश्य में कानपुर

कानपुर व्यवसायिक रूप से तो अत्यंत महत्वपूर्ण है ही इसके साथ ही साथ इसका ऐतिहासिक योगदान भी नजरअंदाज करने लायक नहीं है। यह वही कानपुर है जो 1857 के विद्रोह के सबसे बड़े केंद्रों में से एक था। इतिहासकारों के अनुसार इस शहर की स्थापना 24 मार्च 1803 को हुई थी। इतिहासकारों के अनुसार इसकी स्थापना चंदेल राजा हिंदू सिंह ने की थी।

आपको यह जानकार आश्चर्य होगा कि स्थापना के समय इस शहर का नाम कन्हैया पुर था जो कि समय के साथ बदलते बदलते कानपुर हो गया। परंतु कई इतिहासकार इस बात से सहमत नहीं है उनका मानना है कि शहर का नाम कानपुर पड़ा क्योंकि इस शहर का संबंध महाभारत के एक अत्यंत महत्वपूर्ण पात्र कर्ण से था।  इस शहर की व्यवसायिक  तरक्की तब से शुरू हुई जब से British राज की नजर इस पर पड़ी।

ऐसा तब हुआ जब अवध के नवाब 1765 में अंग्रेजों से लड़ाई हार गए। अंग्रेज इससे kanpur नहीं बल्कि cawnpoor के नाम से  जानते थे।  1803 की संधि के बाद अवध के नवाब को कानपुर अंग्रेजों के हाथों में सौंपना पड़ा। 1857 की लड़ाई में इस शहर में काफी खून खराबा हुआ यह शहर काफी लंबे समय तक विद्रोहियों के कब्जे में रहा। आपको यह जानकर अत्यंत आश्चर्य होगा कि कानपुर यूपी स्टॉक एक्सचेंज का घर भी रह चुका है।

पर्यटन की दृष्टि से कानपुर

वैसे तो आपको पर्यटन के नक्शे में कानपुर कम दिखाई देगा परंतु कानपुर पर्यटन के मामले में किसी अन्य शहर से कमजोर नहीं है। कानपुर आने वाले तीर्थयात्री बिठूर से ही अपनी शुरुआत करते हैं। पर्यटक कभी बुड्ढा बरगद देखना भी नहीं भूलते। यह बरगद का पेड़ नाना राव पार्क में ही है, यह वही  बागान है जो 1857 के विद्रोह के प्रमुख  केंद्रों में से एक था।

इनके अलावा भी कानपुर में  जमुई , एलेन फॉरेस्ट जू , श्री राधा कृष्ण मंदिर ,जैन  कांच मंदिर आदि अत्यंत प्रसिद्ध है। हमें उम्मीद है कि आपको इस सवाल का जवाब मिल गया होगा कि ,उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा शहर कौन सा है population के आधार पर ? ऐसी ही अन्य  रोचक जानकारियों के लिए हमारे साथ बने रहे ।

Leave a Reply