विश्व एड्स दिवस कब मनाया जाता है ?

किसी भी चीज़ से जुड़े दिवस यानी खास दिन मनाने का उद्देश्य उसके बारे में जागरूकता फैलाना होता है साथ ही इसके बारे में फैली गलतफहमी इत्यादि को दूर करना होता है। विश्व में ऐसे अनेक दिवस हैं जो कि साल भर आते ही रहते हैं। ऐसा ही एक दिवस एड्स के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए मनाया जाता है। एड्स कितनी खतरनाक बीमारी है, इस बात से लगभग हम सभी परिचित हैं। इस लेख में एड्स से ही जुड़ी कुछ अन्य जानकारी देने की कोशिश की गई है साथ हम हम बताएंगे के विश्व एड्स दिवस कब मनाया जाता है तथा विश्व एड्स दिवस मनाने की शुरुआत कब से हुई थी।

विश्व एड्स दिवस में जानने से पहले संक्षिप्त में एड्स के बारे में जान लेते हैं।

  • एड्स क्या है?

AIDS को सामान्यतः HIV / AIDS के नाम से जाना जाता है। इसका Full Form Human Immunodeficiency Virus / Acquired Immune Deficiency Syndrome है। शरीर में इस HIV के प्रवेश के बाद शरीर की अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने लगती है। इस कारण वह तेज़ी से अलग अलग बीमारियों की चपेट में आने लगता है तथा वह बीमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता के न होने से ठीक नही हो पाती है और मनुष्य का शरीर बीमारी का घर बन जाता है। बता दें कि HIV के शरीर में प्रवेश करते ही के अचानक से असर नही करता बल्कि यह कई साल  बाद लगभग 5 – 10 साल बाद अपना असर दिखाता है। AIDS के संक्रमण का अब तक कोई चिकित्सिय निदान नही खोजा जा सका है। इसका बचाव केवल बचाव ही है। इसलिए इससे बचाव के लिए जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से  हर साल विश्व भर में 1 दिसंबर को विश्व एड्स दिवस मनाया जाता है।

  • 1 दिसंबर – विश्व एड्स दिवस के रूप में मनाया जाने वाला दिन

विश्व एड्स दिवस का इतिहास

विश्व एड्स दिवस, विश्व स्वास्थ्य संगठन ( World Health Organization ) द्वारा मनाए जाने वाले आठ स्वास्थ संबन्धित दिवस में से एक है। विश्व एड्स दिवस की शुरुआत आधिकारिक रूप से 1988 में हुई थी तथा इसे 1 दिसंबर को मनाने की प्रथा शुरू हुई थी। हालांकि इससे एक साल पहले भी यानी 1987 में एड्स को समर्पित एक दिवस मनाया गया था। 1987 में अगस्त महीने में इसे दो व्यक्ति ने मनाया जो कि World Health Organization ( WHO ) से ही जुड़े हुए थे।

यह Concept WHO को पसंद आया तथा इसके बाद 1988 में इसे आधिकारिक रूप विश्व एड्स दिवस के रूप में मनाने की घोषणा कर दी।

  • विश्व एड्स दिवस मनाने का उद्देश्य

चूंकि इसका अब तक कोई चिकित्सीय तोड़ नही खोजा जा सका है। इसलिए बड़ी संख्या में लोगों के इसके संक्रमण में आने के कारण इसके बारे में जागरूकता फैलाने के लिए ही इसका आयोजन किया जाने लगा। आंकड़ों में देखें तो एक अनुमान के मुताबिक 2017 तक एड्स के कारण विश्व भर में 30 – 40 Million लोगों की मौत हो चुकी थी तथा मौजूदा समय में लगभग 36.7 Million लोग HIV के संक्रमण के साथ रह रहे हैं। इन्ही सब को ध्यान में रखते हुए जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से विश्व एड्स दिवस का आयोजन किया जाता है।

इस लेख को पढ़ने के बाद आपको यह पता चल गया है कि विश्व एड्स दिवस कब मनाया जाता है। अगर आप इस लेख के बारे में कोई सवाल या सुझाव देना चाहते हैं तो कमेंट बॉक्स में ज़रूर बताएं। इसके अलावा किसी अन्य तरह के सवाल या सुझाव भी आप कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं। इसी तरह के पोस्ट पाते रहने के लिए इस Website से जुड़े रहें।

Leave a Reply