विश्व की पहली फ़िल्म कौन सी थी।

भारत में फ़िल्म इंडस्ट्री की शुरुआत 20वीं सदी की शुरुआत में ही हो गया था। भारत की पहली फ़िल्म बनाने का श्रेय दादा साहब फाल्के को दिया जाता है। भारत में पहली फ़िल्म 1913 में बनी थी लेकिन विश्व के दूसरे हिस्सों में फ़िल्म बनने की तकनीक 19वीं सदी के अंत तक आ गया था और यह इंडस्ट्री काफी तेजी से बढ़ता जा रहा था।

vishav ki phali film kab bani thi

इतिहास में देखें तो Film Industry काफी अधिक पुरानी नही हैं। विश्व की पहली फ़िल्म 1888 मे हुई थी। यह वह दौर था जब नए-नए आविष्कार जन्म ले रहे थे तथा विज्ञान तेज़ी से अपने पांव पसार रहा था। इसी समय ही विश्व में फ़िल्म बनने की कला भी  आई। 1888 में पहली फ़िल्म बनी इस लिहाज से फ़िल्म इंडस्ट्री लगभग 130 साल पुरानी हो चुकी है। इतने समय में यह पूरी तरह बदल कर आर्थिक रूप से भी काफी बड़ी इंडस्ट्री बन चुकी है। विश्व के पहले फ़िल्म की बात करें तो यह फ़िल्म Roundhay Garden Scene थी। इस फ़िल्म का निर्माण 1888 में किया गया था।

Rounhay Garden Scene – विश्व की पहली फ़िल्म

  • संक्षिप्त परिचय

ऐसी मान्यता है कि Rounhay Garden Scene ही पहली फ़िल्म हैं। इस फ़िल्म का निर्माण 1888 में एक French आविष्कारक Louis Le Prince ने किया था। यह एक Mute ( मूक ) फ़िल्म थी। इस फ़िल्म की लंबाई सिर्फ 2.11 सेकंड है। इस फ़िल्म की Shooting, उत्तरी England के एक जगह Roundhay, Leeds के Oakwood Garden में हुई थी।

  • Rounhay Garden Scene फ़िल्म अभिनेता

Louis Le Prince इस फ़िल्म के डायरेक्टर थे। इस फ़िल्म को Produce भी Louis Le Prince ने ही किया था। इस फ़िल्म में अभिनय करने वाले कलाकार Annie Hartley, Adolphe Le Prince, Joseph Whitley और Sarah Whitley थे। इस फ़िल्म को Produce और Direct करने के अलावा इस फ़िल्म की Cinematography तथा Editing की भी ज़िम्मेदारी Louis Le Prince ने ही सँभली थी। इस फ़िल्म को 14 अक्टूबर 1888 को रिलीज किया गया था। इसे दो देशों, यूनाइटेड किंगडम और फ्रांस में रिलीज़ किया गया था।

  • फ़िल्म के बाद कि घटनाएं

इस फ़िल्म की Shooting के चंद दिन बाद ही इससे जुड़े लोगों के साथ अजीब घटना हुई और कुछ लोगों की मौत बेहद ही रहस्यमयी तरीक़े से हो गयी थी। स फ़िल्म की Shooting के 10 दिन बाद ही इससे जुड़े एक कलाकार Sarah Whitley की मृत्यु 72 साल की उम्र में हो गयी थी। इस फ़िल्म के डायरेक्टर, प्रोड्यूसर रहे Louis Le Prince अपने इस नए खोज को दुनिया के सामने लाते की उससे पहले ही उनके साथ भी अजीब घटना हुई और वह भी रहस्यमय तरीके से गायब हो गए।

इसके बाद भी इस फ़िल्म से जुड़े लोगों के साथ रहस्मयी घटनाओं का दौर जारी रहा। इस फ़िल्म के डायरेक्टर प्रोड्यूसर रहे Louis Le Prince के एक बेटे तथा इस फ़िल्म के कलाकारों में शामिल रहे Adolphe Le Prince की भी गोली मार कर हत्या कर दी गयी। इनकी हत्या उस समय की गई जब यह अपने पिता के इस नए खोज को लेकर एक कोर्ट में Thomas Edison के खिलाफ गवाही देने की तैयारी में थे।

Read also :-

Leave a Reply