सफेद हाथी कहाँ पाए जाते हैं।

हाथियों को हमेशा से समृद्धि और शक्ति का प्रतीक माना जाता  रहा हैं। आदि काल में भी हाथियों का ज़िक्र देखने को मिलता हैं। इसलिए हाथियों को कई धर्मों में भी विशेष दर्जा प्राप्त है। विश्व भर में हाथियों की कई प्रजाति पाई जाती है। सामान्य रूप से हम आप मटमैला रंग का हाथी देखते हैं। लेकिन इसके अलग भी हाथियों की एक प्रजाति है जो कि सफेद रंग का होता हैं। सफेद हाथी मुख्य रूप से थाईलैंड में पाया जाता है। इस कारण थाईलैंड को सफ़ेद हाथियों की धरती ( Land of White Elephant ) कहा जाता है।

safed hanthi kaha paye jate hai

थाईलैंड – सफेद हाथियों की धरती

  • सफेद हाथी ( White Elephant )

सफेद हाथी, हाथियों की एक दुर्लभ ( Rare ) प्रजाति है। इसे Albino elephant भी कहा जाता है। मुख्यतः हाथियों की ये प्रजाति थाईलैंड में पाई जाती है। लेकिन इसके अलावा भी यह अन्य देशों जैसे म्यांमार, लाओस  समेत कुछ अन्य एशियाई देशों में भी सदियों से सफेद हाथी पाया जाता रहा है। थाईलैंड समेत सभी देश जहां ये हाथी पाए जाते है, इसे समृद्धि का प्रतीक मानते हैं। थाईलैंड के राज घराने के भी झुकाव सफेद हाथियों के तरफ लंबे समय से रहा है। अब भी वहां के शाही दरबार में सफेद हाथी मौजूद है।

सफेद हाथी सिर्फ रंग के आधार पर ही अन्य हाथियों से अलग होते हैं। इनकी बाकी सभी चीज़े बिल्कुल दूसरे हाथियों की ही तरह होती है। हालांकि “सफेद” हाथी  कहलाने के बावजूद ये हाथी बिल्कुल सफेद नही होते हैं। बल्कि इन हाथियों की सफेदी बिल्कुल नाममात्र की होती है।

सफेद हाथी और थाईलैंड

चूंकि सबसे अधिक संख्या में सफेद हाथी थाईलैंड में ही पाए जाते हैं। इसलिए इस हाथी से इस देश का भी विशेष जुड़ाव रहा है। ऐसी मान्यता थी कि जहां भी एक या इससे अधिक सफ़ेद हाथी होंगे, उस जगह पर किसी भी तरह की विपत्ति नही आएगी। सफेद हाथी को थाईलैंड में इसी नज़रिये से देखा जाता था। सफेद हाथी को थाईलैंड में पवित्र मानने के साथ – साथ  शाही शक्ति का प्रतीक ( Symbol of Royal Power ) भी माना जाता था।

थाईलैंड में सफेद हाथी से जुड़े इतिहास से पता चलता है कि, वहां की यह प्रथा थी जिस भी राजा के पास जितनी बड़ी संख्या में सफेद हाथी होता था, उसे उतना ही ताक़तवर और अच्छा माना जाता था। दूसरे शब्दों में कहे तो वहां के राजा की हैसियत सफेद हाथी की संख्या से आंकी जाती थी। इसलिए वहां यह चलन था कि जहां भी सफेद हाथी देखा जाता था, उसे राजा को पेश कर दिया जाता था।

राजा के सामने सफेद हाथी की पेशी भी बड़े ही शानदार तरीके से एक बड़े आयोजन के साथ किया जाता था। एक और बात यह थी कि सफेद हाथी को बिना कैद किए ही रखा जाता था। थाइलैंड के 9वें राजा के रूप में यहां की गद्दी पर 9 जून 1946 से, मरने से पहले तक यानी 13 अक्टूबर 2016 तक काबिज़ रहे Bhumibol Adulyadej  के पास 21 सफेद हाथी थे। इसे राजा की बड़ी उपलब्धियों में से एक मानी जाती है। इन 21 हाथियों में से 11 हाथी अब भी जीवित हैं।

विश्व में सफेद हाथियों की संख्या

ऐसा कहा जाता है कि जन्म लेने वाले 10 हज़ार हाथियों में से सिर्फ 1 हाथी सफेद होता है। इस लिहाज से, पूरे विश्व में सभी तरह के हाथियों को मिलाकर इनकी संख्या  4 से 7 लाख के बीच है। जिनमे से 20 से 30 हज़ार जंगली एशियाई हाथी हैं।  इस आधार पर, 10 हज़ार पर एक सफेद हाथी माना जाए तो सफेद हाथियों की कुल संख्या विश्व भर में 50 से 75 के बीच हो सकती हैं। ये आंकड़े केवल एक अनुमान है।

Leave a Reply